सावन का महीना शरू होते ही देशभर के शिव मंदिर एक बार फिर शिव भक्तों के जयकारा से गूंज उठे हैं. इस महीने में सच्ची श्रद्धा से भगवान शिव की आराधना करना 16 सोमवार के बराबर माना जाता है. वैसे इस बार सावन सिर्फ़ 29 दिन का ही होगा. आमतौर पर हर साल सावन जुलाई में ही शुरू हो जाता था, लेकिन इस बार पुरुषोत्तम माह होने के कारण अगस्त में शुरू हुआ है. सावन के महीने में भगवान शिव की आराधना के लिए मंदिरो में भक्तों की लम्बी-लम्बी कतारें दिखाई दे रही है. तो हमने सोच देश के सबसे बड़े शिव मंदिरों के दर्शन करवा दिए जाएं आपको.

चलिए आज हम आपको देशभर के कुछ ऐसे ही प्रसिद्ध शिव मंदिरों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां जाकर आप भगवान शिव की आराधना कर सकते हैं:

1- सोमनाथ (गुजरात)

Source: aajtakintoday

गुजरात के सौराष्ट्र में स्थित सोमनाथ ज्योतिर्लिंग को धरती का पहला ज्योतिर्लिंग माना जाता है. इस शिवलिंग की स्थापना स्वयं चंद्रदेव ने की थी. इसे अब तक 17 बार नष्ट किया जा चुका है और हर बार इसका पुनर्निर्माण किया गया.

2- केदारनाथ (उत्तराखंड)

Source: sacredyatra

केदारनाथ मन्दिर उत्तराखण्ड राज्य के रूद्रप्रयाग ज़िले में स्थित है. हिमालय पर्वत की गोद में स्थित ये मन्दिर बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है. ये मंदिर चार धाम और पंच केदार में से भी एक है. बाबा केदारनाथ के इस मंदिर का वर्णन स्कन्द पुराण एवं शिव पुराण में भी मिलता है.

3- महाकालेश्वर (मध्य प्रदेश)

Source: hindiwebdunia

मध्य प्रदेश के उज्जैन में क्षिप्रा नदी के तट पर स्थित इस ज्योतिर्लिंग की विशेषता है कि ये एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग है. यहां की भस्मारती देशभर में प्रसिद्ध है.

4- लिंगराज मंदिर (ओडिशा)

Source: wikimapia

ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में स्थित लिंगराज मंदिर प्राचीनतम मंदिरों में से एक है. भगवान शिव को समर्पित ये मंदिर शिवभक्तों की आस्था का प्रतीक भी माना जाता है. हर साल यहां लाखों शिव भक्त दर्शन के लिए आते हैं.

5- रामेश्वर (तमिलनाडु)

Source: aajtakintoday

तमिलनाडु के रामेश्वरम में स्थित भगवान शिव का रामनाथस्वामी मंदिर 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है. ये दक्षिण भारत के प्रसिद्ध मंदिरों में शामिल है. इस मंदिर में दो शिवलिंग हैं. एक शिवलिंग सीता माता ने बनाया था और दूसरा हनुमान जी द्वारा लाया गया था.

6- मुरुदेश्वर शिव मंदिर (कर्नाटक)

कर्नाटक की कन्दुका पहाड़ी पर तीन ओर से पानी से घिरा ये मंदिर भगवान शिव को समर्पित है. यहां भगवान शिव का आत्म लिंग स्थापित है, जिस की कथा रामायण काल से सम्बंधित है. 'मुरुदेश्वर' भगवान शिव का एक नाम है. यहां भगवान शिव की दूसरी सबसे ऊंची मूर्ति स्थित है.

7- विश्वनाथ मंदिर (उत्तर प्रदेश)

Source: aajtakintoday

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में स्थित भगवान शिव का काशी विश्वनाथ मंदिर अपने आप में एक विशेष स्थान रखता है. इस मंदिर की स्थापना 1780 में अहिल्या बाई ने करवाई थी. काशी को मोक्ष की नगरी भी कहा जाता है. हिंदू धर्म में मान्यता है कि वाराणसी में विश्वनाथ के दर्शन व गंगा स्नान करने से मोक्ष प्राप्त होता है.

8- अमरनाथ गुफा

Source: indiatvnews

जम्मू-कश्मीर में स्थित अमरनाथ गुफ़ा भगवान शिव के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है. अमरनाथ को तीर्थों का तीर्थ कहा जाता है क्योंकि यहीं पर भगवान शिव ने माता पार्वती को अमरत्व का रहस्य बताया था.

9- त्र्यंबकेश्वर मंदिर (महाराष्ट्र)

Source: lokmat

महाराष्ट्र के नासिक से 30 किमी दूर गोदावरी नदी के करीब स्थित ये ज्योतिर्लिंग शिव भक्तों की आस्था का प्रतीक माना जाता है. भगवान शिव का एक नाम त्र्यंबकेश्वर भी है.

10- प्राचीन शिव मंदिर (अम्बाला)

Source: haryanatourism

सावन का महीना शुरू होते ही अंबाला में स्थित करीब 500 साल पुराने इस शिव मंदिर में भी भक्तों का तांता लगना शुरू हो जाता है. पंजाब, हरियाणा समेत आस-पास के राज्यों के श्रद्धालु यहां भगवान शिव की आराधना करने आते हैं.

तो भक्तों कैसा लगा आपको हमारा ये प्रयास? अगर आपकी जानकारी में भी हैं कुछ ऐसे ही प्रसिद्ध शिव मंदिर तो हमारे साथ शेयर करें.