घूमना हममें से ज़्यादातर लोगों को पसंद होता है. कुछ लोग फ़ैमिली या दोस्तों के साथ घूमने जाते हैं, तो कुछ लोग बिज़नेस ट्रैवेल करते हैं. मगर हममें से ही कुछ होते हैं असली घुमक्कड़, जिन्हें ख़ूबसूरत दुनिया देखने का इतना शौक़ होता है कि वो किसी का इंतज़ार नहीं करते और अकेले ही निकल जाते हैं. ऐसे लोगों को अलग-अलग भाषा, बोली और संस्कृतियों के लोगों से मिलने, नई जगहें और चीज़ें देखने में बड़ी दिलचस्पी होती है.

Solo Traveling के ढेर सारे फ़ायदे हैं. अपने आपको जानने का, दुनिया को समझने का और अपने अन्दर की छिपी Qualities को बाहर लाने का ये एक बेहतर रास्ता है. Solo Traveling से होने वाले फ़ायदों के बारे में हम आपको पहले भी बता चुके हैं.

आज हम आपको बताएंगे ऐसी कुछ जगहें, जहां आप अकेले घूमकर भी Traveling का पूरा मज़ा उठा सकते हैं. इन जगहों की ख़ास बात ये है कि यहां Nature है , शांति है, Adventure है, मस्ती है, History है और हैं ढेर सारे ऐसे Experience, जो ज़िन्दगी भर आपके काम आने वाले हैं. एक और बात अगर आप अकेले जाते हैं, तो इन जगहों पर घूमने के लिए आपको ज़्यादा बजट भी नहीं चाहिए.

1. खज्जियार, हिमाचल प्रदेश

Source: youtube

खज्जियार को भारत का मिनी Switzerland कहा जाता है और ये उपाधि इसे वहां के लोगों ने नहीं, बल्कि ख़ुद स्विस राजदूत ने 1992 में दी थी. खज्जियार का मौसम, देवदार और चीड़ के ऊंचे पेड़, वादियां, हरियाली, पहाड़ और झील आपको मानसिक सुकून देंगी. यहां मौसम दिन भर सुहाना रहता है. यहां झील के आस-पास फैली मुलायम घास और चारों तरफ़ का नज़ारा आपको सपनों वाला Switzerland मालूम पड़ेगा.

कैसे पहुंचें- दिल्ली से खज्जियार की दूरी लगभग 500 Km. है. पठानकोट रेलवे स्टेशन से ये जगह 95 Km दूर है. आप रेल या हवाई जहाज़ से शिमला तक जा सकते हैं, वहां से बस और टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है.

2. Sandhan Valley, Maharashtra

Source: livefrfreedom

Trekking के लिए मशहूर Sandhan Valley को महाराष्ट्र का 'Grand Canyon' कहते हैं और इसे 'Valley of Shadows' के नाम से भी जाना जाता है. Adventure के शौक़ीनों के लिए इससे बेहतर जगह कोई नहीं. 300 फ़ीट ऊंची Rocks के बीच से गुज़रते हुए लगभग 5 घंटे की Trek में तालाब क्रॉस करना, Rappelling, Mountaineering, Trekking सभी शामिल हैं.

कैसे पहुंचें- मुंबई का छत्रपति शिवाजी इंटरनेशनल एयरपोर्ट यहां से 210 Km दूर है. वहां से ट्रेन, बस या टैक्सी से यहां पहुंच सकते हैं. नज़दीकी रेलवे स्टेशन इगतपुरी है. नासिक या मुंबई जाने वाली ट्रेनें इगतपुरी रुक कर जाती हैं. वहां से आपको जीप या टैक्सी मिल जाएगी.

3. शिलॉन्ग, मेघालय

Source: travelspeak

शिलॉन्ग को भारत का स्कॉटलैंड कहा जाता है. यहां की ख़ूबसूरत वादियां, बादलों से ढके पहाड़, शहर के चारों तरफ़ ख़ूबसूरत झरने और हरे-भरे जंगल आपका मन मोह लेंगे. बारिश के मौसम में ये जगह और भी ख़ूबसूरत हो जाती है. यहां आप Shillong Peak, Elephant Falls, Ward's Lake, Sweet Falls, Bishop Falls, Umiam Lake घूम सकते हैं. इसके अलावा भी यहां ढेर सारे झरने, झील, जंगल, व्यू पॉइंट, म्यूज़ियम, गार्डन, पार्क और मार्केट हैं, जो अकेले घूमने के लिए बहुत अच्छे हैं. चेरापूंजी यहां से 60 Km दूर है.

कैसे पहुंचें- कोलकाता और गुवाहाटी से यहां के लिए डायरेक्ट फ़्लाइट है. उमरोई एयरपोर्ट यहां से 40 Km दूर है. यहां से सबसे नज़दीक गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पड़ता है, जो लगभग 100 Km दूर है.

4. सांगला वैली, हिमाचल प्रदेश

Source: banjaracampus

सांगला हिमाचल प्रदेश के किन्नौर ज़िले में है. इस क्षेत्र की प्राकृतिक सुन्दरता अद्भुत है. ये घाटी सेब के बाग़ों, खुबानी, अखरोट, देवदार के पेड़ और हिमसरिता के लिए मशहूर है. यहां पास ही चितकुल और रचकम गांव बेहद ख़ूबसूरत हैं. यहां की बापसा नदी के आस-पास आप Trekking और Fishing आदि भी कर सकते हैं. ये जगह और यहां के लोग दोनों आपको पसंद आएंगे.

कैसे पहुंचें- यहां से सबसे पास शिमला रेलवे स्टेशन है. चंडीगढ़ से यहां के लिए सरकारी और प्राइवेट बसें भी चलती हैं. सर्दियों में यहां का तापमान बहुत कम हो जाता है. इसलिए सर्दियों के अलावा यहां किसी भी मौसम में जाया जा सकता है.

5. औली, उत्तराखंड

Source: travelthemes

ऊंचे-ऊंचे आसमान छूते चमकीले पहाड़ और दूर तक फैली सफ़ेद बर्फ़ की चादर, ऐसा आपने अगर बस फ़िल्मी गानों में देखा है तो एक बार औली आकर इन्हें सच में देख सकते हैं. औली 5-7 किलोमीटर में फैला छोटा सा Skiing Resort है. यहां बर्फ़ से ढकी चोटियां बहुत सुन्दर दिखती हैं. यहां की ठंडी और ताज़ी हवा में देवदार की महक महसूस की जा सकती है. यहां कपास जैसी मुलायम बर्फ़ गिरती है. Adventure चाहने वालों के लिए ये जगह अच्छी है. यहां गढ़वाल विकास निगम द्वारा Skiing सिखाने के लिए सेंटर्स भी हैं.

कैसे पहुंचें- यहां आस-पास कोई रेलवे स्टेशन न होने के कारण आपको हरिद्वार से यहां जाना पड़ेगा. हरिद्वार से 275 Km है जोशीमठ और जोशीमठ से 16 किलोमीटर है औली.

6. मुन्नार, केरल

Source: gogeoholidays

मुन्नार हिल स्टेशन किसी ज़माने में ब्रिटिशर्स के लिए Summer Resort हुआ करता था. ये इडुक्की ज़िले में है. मुन्नार में वो सबकुछ है जो एक Nature Lover अकसर ढूंढ़ता है. यहां के चाय के बागान, प्राचीन घाटियां, झरने, पहाड़ियां, हरे जंगल और ख़ुशबू भरी हवा, सबकुछ आपका मन मोह लेंगे. Biking और Trekking के शौक़ीन इस जगह को स्वर्ग मानते हैं, ख़ासकर यहां के मौसम के कारण.

कैसे पहुंचें- तमिलनाडु का तेनी (Theni) रेलवे स्टेशन यहां से लगभग 60 Km दूर है और मदुरई हवाई अड्डा लगभग 140 Km दूर है.

7. गैंगटॉक, सिक्किम

Source: nisthaonweb

गैंगटॉक, सिक्किम की राजधानी है. ये जगह अपनी प्राकृतिक सुन्दरता और ऐतिहासिक मठों के लिए प्रसिद्ध है. ये शहर रानीपुल नदी के तट पर बसा हुआ है. इस जगह से पूरे कंचनजंघा को देखा जा सकता है. अगर आप गैंगटॉक घूमने का पूरा लुत्फ़ उठाना चाहते हैं, तो इस शहर को पैदल घूमें. यहां से कंचनजंघा का नज़ारा ऐसे लगता है, जैसे पर्वत आकाश को छूते हुए हर पल रंग बदल रहा हो. बौद्ध धर्म में रूचि रखने वालों के लिए यहां बहुत से मठ और मंदिर हैं. यहां की चारों तरफ़ से बर्फ़ से ढकी झील आपको अच्छी लगेगी.

कैसे पहुंचें- गैंगटॉक में कोई रेलवे स्टेशन नहीं है. इसका सबसे नज़दीकी रेलवे स्टेशन न्यू जलपाईगुड़ी है, जो यहां से लगभग 130 Km दूर है और नज़दीकी हवाई अड्डा बागडोगरा में है, जो लगभग 100 Km दूर है.

8. उदयपुर, राजस्थान

Source: reviste

उदयपुर अपनी सुन्दरता के लिए विश्वप्रसिद्ध है. यहां बहुत से क़िले और महल हैं. यहां ढेर सारे तालाब होने के कारण इसे 'City of Lake' भी कहते हैं. यहां हर साल ढेर सारे देशी-विदेशी पर्यटक आते हैं. इसलिए यहां आपको अकेलापन कम महसूस होगा. यहां सिटी पैलेस, कुम्भलगढ़ क़िला, बगोरे की हवेली, जगमंदिर, सहेलियों की बाड़ी, Lake Pichola, Lake Fatehsagar, Vintage Cars Museum आदि घूम सकते हैं.

कैसे पहुंचें- यहां ट्रेन से आसानी से पहुंचा जा सकता है क्योंकि उदयपुर रेलवे स्टेशन है. इसके अलावा डबोक एयरपोर्ट सबसे नज़दीक है, जो 20 Km दूर है.

9. लेह-लद्दाख, जम्मू कश्मीर

Source: tripsonbid

माउंटेन बाइकिंग के शौक़ीनों को ये जगह किसी सपने जैसी लगेगी. दुनिया का सबसे ऊंचा ठंडा रेगिस्तान और उनके बीच नीली झीलें, साल भर बर्फ़ से ढकी रहने वाली दुनिया की सबसे ऊंची सड़कें और बहुत कुछ इस जगह को ख़ास बनाती हैं. मनाली से लेह तक 480 किलोमीटर का सफ़र है. रास्ते में आने वाली छोटी-बड़ी मुश्किलें आपको रोमांचक अनुभव देंगी. यहां जाने के लिए मनाली से बुलेट आपको रेंट पर मिल जाएगी. यहां घूमने का बेस्ट टाइम जून से सितम्बर है.

कैसे पहुंचें- घूमने के लिए दिल्ली से जम्मू तक आप ट्रेन या हवाई जहाज़ से आ सकते हैं, उसके आगे का सफ़र बस से करना पड़ेगा. बाइकिंग के लिए मनाली से आ सकते हैं.

10. ऋषिकेश, उत्तराखंड

Source: haridwarrishikeshtourism

Nature और Adventure Lovers के लिए ऋषिकेश स्वर्ग से कम नहीं है. ऊंचे पहाड़, नदी, जंगल, झील, झरने और बहुत से मंदिरों के साथ-साथ यहां ढेर सारे Adventure Sports भी हैं. यहां आप Trekking, River Rafting, Cliff Diving, Bungee Jumping, Kayaking और Rock Climbing कर सकते हैं. इसके अलावा यहां का योग और ध्यान केंद्र, आयुर्वेदिक स्पा सेंटर आदि भी बहुत प्रसिद्ध हैं. अकेले घूमने के लिए इस जगह पर इन चीज़ों के अलावा जंगल, म्यूज़ियम, वाइल्ड लाइफ़ सफ़ारी आदि हैं.

कैसे पहुंचें- ऋषिकेश का रेलवे स्टेशन मुख्य शहर से 4 किलोमीटर दूर है. यहां का नज़दीकी हवाई अड्डा जॉली ग्रांट एयरपोर्ट है, जो ऋषिकेश से लगभग 20 किलोमीटर दूर है.

ऐसी बहुत सी ख़ूबसूरती हमारे ही देश में चारों तरफ़ फैली हुई है, बस हम उन जगहों को ज़्यादा जानते नहीं. इसीलिए जब बॉलीवुड फ़िल्मों में हमें अपने ही देश की वादियां, पहाड़ और महल दिखाए जाते हैं, तो हमें लगता है ये विदेश की जगहें हैं. तो अब इंतज़ार किसका है. बनाइए प्लान और कीजिए पैकिंग. ज़िन्दगी की उलझनों से कुछ दिन निकालिए और देखिए हमारी धरती, हमारा देश कितना ख़ूबसूरत है.