आज हम न ही खतरनाक और भूतिया जगहों की बात कर रहे हैं, बल्कि एक मूल्क के भीतर वहां की खतरनाक जगहों की बात कर रहे हैं, जहां से ज़िंदा बच कर वापस आना मुश्किल ही नहीं, नामुकिन है. पाकिस्तान को दहशतगर्दी, आतंक और इस्लामी कट्टरपंथ का गढ़ कहा जाता है. पाकिस्तान में कट्टरपंथ के नाम पर कत्लेआम वहां की आम बात है. पाकिस्तान भले ही बड़ी मासूमियत के साथ दुनिया के सामने चिल्ला-चिल्ला कर यह कहे कि वह खुद दहशतगर्दी से शिकार मुल्क है. पर हकीक़त तो यही है कि पाक की अंदरूनी हालत खुद भी काफ़ी खतरनाक है.

पाकिस्तान में कई ऐसी जगहें हैं, जहां आदमी चला जाए, तो उसके जिंदा बच कर वापिस आने की कोई गारंटी नहीं दिखती. तो चलिये, आप भी जानिये पाक के उन नापाक और बेहद ही खतरनाक जगहों के बारे में...

1. डेरा इस्माइल खान

Source: dw.com

यह पाकिस्तान के कबिलाई इलाके खैबर पख्तूनख्वा का शहर है. यह पाकिस्तान के सबसे खतरनाक शहरों में शुमार है. यहां कट्टरपंथता इतनी हावी है, जिसकी वजह से कई बेकसूर लोगों को मार दिया गया है. यहां रोज़मर्रा की ज़िंदगी में खूनी जंग आम बात है.

2. हजारा

प्रतीकात्मक तस्वीर : livehindustan

यह खैबर पख्तूनख्वा का नॉर्थ-ईस्टर्न इलाका है. यह भी पाकिस्तान के अव्वल दर्जे का खतरनाक इलाका है. यहां जातिवाद और कट्टरपंथ के नाम पर हज़ारों लोगों का कत्ल कर दिया गया है.

3. मिराशनाह

प्रतीकात्मक तस्वीर: maryada

ये पाकिस्तान का कबिलाई इलाका है. यहां सुबह हो या शाम, हर वक़्त आतंक का साया मंडराता रहता है. अमेरिकी एजेंसी सीआईए के मुताबिक, पाकिस्तान के खूंखार आतंकवादी यहीं रहते हैं और प्लानिंग करते रहते हैं. यहां भी आम लोगों को वैसे ही मार दिये जाते हैं.

4. मोहम्मद एजेंसी

प्रतीकात्मक तस्वीर: bbc

वैसे तो ये भी कबिलाई इलाका है, लेकिन यहां कब गोलियां चल जाएं, ये कोई नहीं जानता. यहां पाकिस्तानी आर्मी और आतंकियों के बीच अकसर गोलीबारी होती रहती है. सबसे खास बात ये है कि यह जगह पाक सबसे अच्छे टूरिज्म डिस्टिनेशन में भी शामिल है.

5. वाना

प्रतीकात्मक तस्वीर: jagran

वाना कभी न जाना. जी हां, ये वजीरिस्तान का सबसे बड़ा शहर है. इस इलाके के चप्पे-चप्पे पर पाकिस्तानी आर्मी की नज़र रहती है. खतरनाक तालिबानी आतंकवादी अहमदजई वजीरी ने यहीं पर लोगों का कत्लेआम किया था. हालांकि, आर्मी हमेशा यहां से आतंकियों को खदेड़ देने का दावा करती है, लेकिन सब धरे के धरे रह जाते हैं .

6. बाजौर एजेंसी

प्रतीकात्मक तस्वीर: newsroompost

बाजौर एजेंसी पाक के खार में मौजूद कबिलाई इलाका है. पाकिस्तानी आर्मी इस इलाके को खूनी इलाके के नाम से जानती है. यहां लोगों की ज़िंदगी का कोई भरोसा नहीं होता क्योंकि ये आतंकवादियों का सबसे बढ़ा गढ़ है. यहां हर वक्त जंग सा माहौल रहता है.

7. पेशावर

Source: haribhoomi

शायद ही कोई इस नाम को भूल पाये. अकसर सुर्खियों में बना रहने वाला ये पेशावर खैबर पख्तूनख्वा की राजधानी है. यहां आतंकियों का हमला साधारण और आम बात है. यहां हमेशा आतंकी किसी न किसी बहाने ब्लास्ट करते रहते हैं. बीते दिनों यहीं के आर्मी स्कूल पर हमला हुआ था, जिसमें 130 से अधिक बच्चों की मौत हो गई थी.

8. ओरकजई एजेंसी

प्रतीकात्मक तस्वीर: ilkehaberajansi

यह पाकिस्तान के फाटा में है. यह पूरी तरह से तालिबानियों के कब्जें में है. यहां 2006 से तालिबानियों के कारण खून-खराबा काफ़ी बढ़ गया है. इसे तालिबानियों का गढ़ कहा जाता है. यहां सबसे ज़्यादा शिया मुस्लिमों का कत्ल हुआ है. यह बात और है कि यहां पाक आर्मी ने कई आतंकियों को मारा है, फिर भी हालात जस के तस है.

9. करांची

Source: ibn

करांची को सिंध क्षेत्र का कैपिटल माना जाता है. पाकिस्तान की खतरनाक जगहों में इसका नाम भी शामिल है. यहां कब किसी का किडनैप हो जाए, कत्लेआम हो जाए या बम ब्लास्ट हो जाए, कुछ भी नहीं कहा जा सकता. वैसे करांची को पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था की रीढ़ माना जाता है.

10. क्वेटा

प्रतीकात्मक तस्वीर: dnntimes

इसे बलूचिस्तान की प्रांतीय राजधानी कहा जाता है. कुछ सालों से आतंकियों की नज़र इस शहर पर इस कदर पड़ गई है कि यहां बम ब्लास्ट की घटना आम हो गई है. यहां आत्मघाती हमले और बम ब्लास्ट कर आतंकवादियों ने हज़ारों लोगों को यूं ही मार डाला है. सबसे खास बात ये है कि इसे पाक का फ्रूट गार्डन भी कहा जाता है. यहां कई तरह के फ्रूट्स और ड्राय फ्रूट्स का प्रोडक्शन होता है.

अगर आपको मेरी इन बातों पर भरोसा नहीं हो रहा है, तो एक बार जाकर देख लीजिए, खुद-ब-खुद इसका अंदाज़ा हो जाएगा. अगर आप इस पोस्ट से सहमत हैं, तो इसे अधिक लोगों तक शेयर करें.

Source: dainikbhaskar