सैर कर दुनिया की ग़ाफ़िल ज़िंदगानी फिर कहांज़िंदगी गर कुछ रही तो ये जवानी फिर कहां

किसी ट्रैवलर के लिए ये शायरी किसी मंत्र से कम नहीं. वो लोग ही अलग होते हैं, जो, सड़कों, बाइक और नज़ारों में रोमांच देख लेते हैं, फिर निकल पड़ते हैं वादियों, पहाड़ों के हाल-चाल लेने. किसी और शौक की तरह बाइकिंग भी करोड़ों लोगों का शौक है और इसके लिए लोग हज़ारों मील सिर्फ़ ढाबे का खाना, चाय की टपरी और एक बाइक के भरोसे चल देते हैं. अगर आप भी खुद को बाइकर कहते हैं, तो ये रहे भारत की दस जगहें, जहां की रोड ट्रिप आपको पक्का करनी चाहिए.

Source: Travefy

1. मनाली से लेह

दूरी- 480 Km

देश का सबसे ख़ूबसूरत नज़रा आपको इस हाईवे पर देखने को मिलेगा. करीब 480 किलोमीटर की ये दूरी आपको रोमांचक अनुभव देगी. अगर आपके पास बुलेट नहीं है, तो आप उसे दिल्ली या मनाली से रेंट पर भी ले सकते हैं. ये करीब दो दिन की ​ट्रिप होगी, बस आप ज़्यादा स्टॉप न लें. इस रास्ते में मौसम के हिसाब से कहीं कीचड़, बर्फ़ीला रास्ता और नाले आएंगे,​ जिससे घबराना मत, बस ट्रिप का मज़ा लेना.

कब करें ट्रिप प्लैन?

इस ट्रिप के लिए मई या जून सबसे अच्छा वक़्त है.

रूट मैप– Manali – Rothang Jot – Gramphu – Kokhsar – Tandi – Keylong – Jispa – Darcha – Zingzingbar – Baralacha La – Bharatpur – Sarchu (State Border) – Gata Loops – Nakee La – Lachulung La – Pang – More Plains – Tanglang La – Gya – Upshi – Karu – Leh

2. चेन्नई से पुडुचेरी, East Coast Road के रास्ते

दूरी- 160 Km

भारत के पूर्वी तट से होते हुए ज़रा इस ट्रिप पर निकलिए, पहाड़ और नदियां आपके साथ चलेंगे. हरियाली और शांति से तो समझ लो कि जीवन धन्य ही हो जाएगा. इसके अलावा रास्ते में कई ऐतिहासिक पर्यटन स्थल भी हैं, जैसे महाबलीपुरम, कल्पक्कम, Idaikkazhinadu, मुदलीकरुपम और मारककनम. ट्रिप के आखिर में खूबसूरत समुद्री तट और उसके किनारे से ढलते सूरज का नज़ारा लेते आप और आपकी बाइक.

कब करें ट्रिप प्लैन?

अगर सूरज से दिक्कत है तो सर्दियां, नहीं तो कभी भी जा सकते हैं आप यहां.

रूट मैप: चेन्नई से East Coast Road होते हुए आप सीधे यहां जा सकते हैं.

3. मुम्बई से गोवा

दूरी 591 Km

अब हम क्या ही ज़िक्र करें इस ट्रिप का, आपने पहले भी कई फ़िल्मों में यहां घूमा ही होगा. फ़िल्में तो ठीक हैं अपनी जगह पर बुलेट पर बैठ कर इसका नज़ारा लेने का मज़ा ही कुछ और है. इसे 'Father of Indian Road Trips' भी कहा जाता है, जहां आप बस सूरज, रेत और समुद्र की ओर बढ़ते जाते हैं. कोशिश करिए कि ये ट्रिप आप अपनी जवानी में कर लें क्योंकि बुढ़ापे में गोवा जाने का क्या ही फ़ायदा. यहां आप NH 17 और NH 48 के रास्ते, नज़ारों और कई Food Joints के लुत्फ़ उठाते हुए करीब 10 घंटे में आप ये ट्रिप पूरी कर सकते हैं.

कब करें ट्रिप प्लैन?

मानसून का वक़्त इस ट्रिप के लिए सबसे अच्छा है.

रूट मैप: मुम्बई पुणे एक्सप्रेसवे से शुरू कीजिए और पुणे से निकलने के बाद Belgaum जाने के लिए NH4 लीजिए. फिर NH47 आपको गोवा ले जाएगी.

4. Guwahati से Tawang

दूरी 510 Km

अगर रोड ट्रिप पर आप सिर्फ़ रोमाच खोज रहे हैं, तो ये आपके लिए है. बस ध्यान रहे आप शारीरिक रूप से भी उतने ही फिट होने चाहिए, जितना मानसिक रूप से क्योंकि नॉर्थ ईस्ट का पहाड़ी रास्ता और तेज़ हवाएं अच्छे-अच्छों के रोमांच की मौज ले लेती हैं. आप बादलों को छूते हुए निकलेंगे, कुछ ऐसी जगह भी होंगी जहां आपको कुछ साफ़ नहीं दिखेगा और इसके अलावा बिंदास ट्रक ड्राइवर हर मोड़ पर आपसे मिलेंगे. यहां जाने के लिए अपके पास ILP (Inner Line Permit) होना चाहिए क्योंकि आप अरुणाचल प्रदेश में प्रवेश करेंगे.

कब करें ट्रिप प्लैन?

इस ट्रिप के लिए सबसे अच्छा मौसम अप्रैल से मध्य जून तक है. मानसून बहुत रिस्की है और सर्दियों में तो आपको कुछ साफ़ दिखाई ही नहीं पड़ेगा.

रूट मैप: Guwahati – Tejpur – Bhalukpong – Bomdila – Dirang – Tawang

5. बेंगलूरु से ऊटी नेश्नल पार्क के रास्ते

दूरी 280 Km

बांदीपुर नेश्नल पार्क भारत के कुछ उन पार्कों में से है, जहां से होते हुए आप रोड ट्रिप कर सकते हैं. इसमें कोई बड़ी बात नहीं है कि आपको रास्ते में हिरन, हाथी या चीता दिख जाए. ये सब ट्रिप को और रोमांचक बनाते हैं. इसके अलावा ये काफ़ी आरामदायक और ख़ूबसूरत यात्रा हो सकती है. पहाड़, बादल, हरियाली और आसमान के बदलते रंग को हम शब्दों में बयां नहीं कर सकते.

कब करें ट्रिप प्लैन?

यहां आप जनवरी से अप्रैल के बीच कभी भी जा सकते हैं, ​इसके अलावा मानसून के तो क्या ही कहने.

रूट मैप: Kozhikode-Mysore-Kollegal Highway के रास्ते बेंगलूरु से बांदीपुर फिर आखिर में ऊटी की ओर Highway 181.

6. जयपुर से जैसलमेर

दूरी 568 Km

राजपूतों का राज्य राजस्थान अपने अंदर इतिहास की गहराईयों को समेटा हुआ है. यहां से गुज़रते वक़्त आपका हाथ अपनी मूछों पर भी चला ही जाएगा. जयपुर से जैसलमेर के रास्ते में आपको कई किले, मंदिर और ऊंट दिखेंगे. रंगीन पगड़ी, सफ़ेद कुर्ता और हाथ में सारंगी लिए कोई दिखे, तो उससे राजस्थानी गाना ज़रूर सुनते जाइएगा.

कब करें ट्रिप प्लैन?

इस यात्रा के लिए अच्छा समय दिसंबर से फरवरी है, बाकी महीनों की गर्मी और लू शायद आप सहन न कर पाएं.

रूट मैप: जयपुर– दुदु– अजमेर– मेरता रोड– नागौर– चारी– Phalodi– लाठी– जैसलमेर

7. श्रीनगर से लेह

दूरी 434 Km

बुलेट चलाने वालों के लिए हिमाल्यन रोड ट्रिप सबसे रोमंचक सफ़र होता है. बर्फ़ीले पहाड़, वादियां, एकांत, आप और आपकी बुलेट, इस अनुभव को हम क्या ही बताएं. इस ट्रिप में आपको पथरीले रास्ते और ख़ूबसूरत वादियों दोनों से गुज़रना पड़ेगा. रास्ते में तैनात भारतीय सेना, उनके कैम्प और आपके आगे चलते सेना के ट्रक आपको बेहतरीन अनुभव देंगे.

कब करें ट्रिप प्लैन?

मौसम के हिसाब से श्रीनगर से लेह हाईवे मई से अक्टूबर तक खुला होता है. आपको हम सुझाव देंगे कि जून से जुलाई के बीच में अपना प्लैन बनाएं.

रूट मैप: Srinagar – Sonmarg – Zozi La – Drass – Kargil – Mulbek – Lamayaru – Saspol – Leh

8. मुम्बई से रन आॅफ़ कच्छ

दूरी 620 Km

ये रास्ता एक घने शहर से सूकून की ओर बढ़ता जाता है. बड़ी ईमारतों के बाद, नीला समुद्री तट, फिर सफ़ेद रेगिस्तान आपको निशब्द कर देगी. इतने बड़े खुले मैदान के आगे आप खुद को काफ़ी छोटा महसूस कर सकते हैं. यहां सूरज आपको थोड़े Warm Regards देगा, जिसके बाद आप चाहें तो Mandvi Beach में आराम कर सकते हैं. ध्यान रहे कि आपके पास Dhordo के डीएसपी की परमिशन भी हो.

कब करें ट्रिप प्लैन?

यहां भी आप दिसंबर से फरवरी के बीच जाएं तो बेहतर है, नहीं तो आपकी धूप से हालत ख़राब हो सकती है. दिसंबर में यहां रण उत्सव भी होता है, आप चाहें तो उसका नज़ारा भी ले सकते हैं.

रूट मैप: Mumbai – Ahmedabad – Vadodara – Bhachau – Bhuj – Khavda – Dhordo – Rann of Kutch

9. शिमला से मनाली किन्नौर और स्पीति वैली के रास्ते

दूरी 1000+ Km

ये रोड ट्रिप भारत की सबसे खतरनाक रोड ट्रिप में से है. NH22 Old Hindustan Tibet Road ढंग से बनी नहीं है, पर रास्ता सिर्फ़ यही है. जब आप किन्नौर वैली से गुज़रते हैं तो एक अलग तरह की आज़ादी आप महसूस करते हैं. यहां आप प्रकृति के और करीब आते हैं. हमारी सलाह है कि यहां अपने कुछ दोस्तों के साथ जाएं क्योंकि काफ़ी दूर तक आपको सुनसान रास्ता मिलेगा.

कब करें ट्रिप प्लैन?

सर्दियों के अंत से जून तक आप यहां जा सकते हैं.

रूट मैप: Shimla – Narkanda – Sarahan – Sangla – Chitkul – Tabo – Kaza – Kalpa

10. दार्जलिंग से सिक्किम

दूरी NH10 से 126 Km

इस रास्ते को सिल्क रूट कहा जाता है. आप दार्जलिंग से सिक्किम, सिल्क रूट के उन पुराने रास्तों से जाएंगे, जो कभी भारत से चीन का रास्ता हुआ करता था. क्योंकि आप बॉर्डर पार कर रहे हैं, तो ये ज़रूरी है कि आपको पास लिखित परमिशन हो. हिमालय की चोटी और चाय के बागान यहां आपका इंतज़ार कर रहे होंगे जो आपको वापस नहीं आने देंगे.

कब करें ट्रिप प्लैन?

इस ट्रिप के लिए सबसे अच्छा वक़्त है नवंबर से जून. कोशिश करें कि मानसून में न जाएं क्योकि इस वक़्त अधिकतर रास्ते बंद होते हैं और आप लम्बे जाम में भी फ़ंस सकते हैं.

रूट मैप: Darjeeling – Kalimpong – Reshi – Pedong – Gnathang – Kupup – Gangtok

अगर आप सोचते हैं कि आपने दुनिया देख ली है, तो ज़रा अपनी सोच पर दोबारा​ विचार कीजिए. इन रोड ट्रिप्स से आपको शायद प्यार हो जाए, मौका और बुलेट साथ ​दे, तो इन Trips पर एक बार ज़रूर जाइएगा. 

Source- Thrillophilia