2016 में हुई नोटबंदी के बाद से भारतीय मुद्रा के रंग और डिज़ाइन में काफ़ी बदलाव किये गये हैं. इसी बदलाव के क्रम को जारी रखते हुए जल्द ही 1, 2, 5 और 10 रुपये के सिक्के के बाद बाज़ार में 100 रुपये का सिक्का आने वाला है. ये 100 रुपये का सिक्का पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 95वीं वर्षगांठ पर जारी किया जाएगा. NDTV में छपी ख़बर के अनुसार, वित्त मंत्रालय का आधिकारिक बयान है कि सिक्के को जारी करने से जुड़ी सारी तैयारियां की जा चुकी हैं.

Source: tosshub

इस सिक्के में एक तरफ़ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीर होगी और दूसरी तरफ़ अशोक स्तम्भ होगा. भारत सरकार की तरफ़ से दिए गए बयान में बताया गया है, सिक्के का वज़न 35 ग्राम होगा और इसे बनाने में 50 प्रतिशत चांदी, 40 प्रतिशत कॉपर, 5 प्रतिशत ज़िंक और 5 प्रतिशत गिलट होगा. इसमें नीचे की ओर सत्यमेव जयते भी लिखा होगा. इतना ही नहीं इस सिक्के पर उनके जन्म (1924) और मृत्यु (2016) का वर्ष भी अंकित किया जाएगा.

Source: webdunia

ये सिक्का बाकि सिक्कों की तरह नहीं है जिसे हम अपने रोज़ के लेन-देन में इस्तेमाल कर पाएंगे. दरअसल, भारत सरकार सिक्के की बुकिंग के लिए समय निर्धारित करेगी और इसे प्रीमियम दरों पर बेचेगी. इसे टकसाल से सीधे भी खरीदा जा सकेगा. इस सिक्के का मूल्य 3300-3500 रुपये रहने की उम्मीद है.

Source: outlookindia

आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन इसी साल 16 अगस्त 2018 में हुआ था. वो 13 दिन के लिए 1996 में प्रधानमंत्री बने. उसके बाद 1998 में वो 13 महीने के लिए प्रधानमंत्री बने, लेकिन 1999 में तब से लेकर 2004 तक वो पांच साल के लिए पूर्णकालिक प्रधानमंत्री रहे.

Source: newshawk

इसी के चलते उनके सराहनीय और देशहित में उठाये गये उचित क़दमों के लिए ही अटल बिहारी वाजपेयी की याद में इस 100 रुपए के सिक्के को जारी किया जा रहा है. ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि अटल जी के नाम का इस्तेमाल किया जा रहा है, बल्कि इससे पहले भी कई जगहों का नाम अटल जी के नाम पर रखा जा चुका है. इसमें छत्तीसगढ़ में स्थित नया रायपुर का नाम अटल नगर रखा गया है. उत्तराखंड सरकार ने भी फ़ैसला किया है कि देहरादून एयरपोर्ट का नाम पूर्व पीएम के नाम पर रखा जाए. लखनऊ के हज़रतगंज चौराहे का नाम बदलकर भी अटल चौक रखा गया है.

Feature Image Source: bbci