थाईलैंड का नाम जुबां पर आते ही शानदार बीच, लेट नाईट पार्टी और मसाज की याद आने लगती है. थाईलैंड को दुनिया के सबसे हैपनिंग जगहों में से एक माना जाता है. खासकर युवाओं के लिए ये जगह किसी जन्नत से कम नहीं है. घूमने-फिरने के लिहाज़ से भी ये पर्यटकों की पहली पसंद है. अगर आप भी थाईलैंड ट्रिप के बारे में सोच रहे हैं, तो जाने से पहले वहां के कल्चर के बारे में ज़रूर जान लें.

Source: tripsavvy

हर देश का अपना एक अलग कल्चर और परम्पराएं होती हैं. थाईलैंड में भी कुछ ऐसी ही मान्यताएं या फिर अंधविश्वास हैं जिनसे पर्यटकों को बचना चाहिए. ताकि जब आप वहां जाएं, तो किसी मुसीबत में न पड़ें.

1- बौद्ध भिक्षुओं को गले न लगाएं

थाईलैंड घूमने गए हैं तो भूल कर भी किसी बौद्ध भिक्षु को गले न लगाएं. क्योंकि थाईलैंड में बौद्ध भिक्षुओं को गले लगाना की मनाही है. जबकि बौद्ध भिक्षु भी महिलाओं को नहीं छू सकते. वहीं बौद्ध भिक्षुओं के साथ खड़ा होने पर भी मनाही है.

2- पैरों का इस्तेमाल न करें

Source: commons

थाईलैंड में आप पैरों का इस्तेमाल चलने के लिए तो कर सकते हो लेकिन किसी अन्य चीज़ के लिए बिलकुल भी न करें क्योंकि यहां पैरों को शरीर का सबसे निचला और गन्दा हिस्सा माना जाता है. किसी को पैरों के इशारे से डायरेक्शन न बताएं. दरवाज़ा खोलने या अपने पैरों के साथ कुछ लेने की कोशिश भी मत करना. टेबल पर पैर रखकर न बैठें. यहां के लोग अपने शरीर में माथे को सबसे ज़्यादा पवित्र अंग मानते हैं.

3. शाही परिवार का अनादर करने से बचें

Source: khaosodenglish/

थाईलैंड के लोग अपने राजा और शाही परिवार से बेहद प्यार करते हैं क्योंकि उन्हें समाज में सबसे अधिक सम्मान दिया जाता है. अगर थाईलैंड के लोग या बाहर से आए पर्यटक शाही परिवार का अपमान करते हैं, तो उसे जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है. यहां संवैधानिक राजतंत्र है और यहां के लोग भगवान की तरह अपने राजा और रानी की पूजा करते हैं.

4. क्या पहन रहे हो उसका ध्यान रखें

Source: asiamarvels

थाईलैंड में भी भारत की तरह ही धार्मिक स्थल हैं, जहां पर जाने से पहले आपको अपनी पोशाक पर विशेष ध्यान देना पहन कर जाना सही होता है. आप यहां पर स्विम सूट पहनकर शहर में नहीं घूम सकते. मंदिरों का दौरा करते समय महिलाओं को लॉन्ग पैंट या लॉन्ग स्कर्ट पहनना चाहिए और कंधे ढके होने चाहिए. इस देश में अंडरवियर पहने बिना घर से बाहर निकलना ग़ैरकानूनी है.

5- किसी की तरफ़ उंगली करने और सिटी बजा कर बुलाने से बचें

Source: vox.com

अगर आप थाईलैंड के किसी रेस्टोरेंट में बैठे हों तो वेटर की तरफ़ उंगली करके उसे न बुलाएं. ऑटो वाले को सिटी या ताली बजाकर बुलाने से भी बचें क्योंकि यहां पर इन इशारों को ग़लत माना जाता है.

6. थाई व्यक्ति के सिर को छूने से भी बचें

Source: 01dojohodai

थाईलैंड के लोग सिर को शरीर का सबसे पवित्र अंग मानते हैं. आप जब तक आप परिवार के सदस्य न हों आपको किसी के सिर को छूने से बचना चाहिए. यहां पर किसी अनजान द्वारा सिर को छूना अमानवीय माना जाता है क्योंकि ये उन्हें असहज महसूस कराता है.

7. थाईलैंड से बाहर बुद्ध की तस्वीर ले जाने की मनाही

Source: diamondway

थाईलैंड में भगवान बुद्ध की तस्वीर खींचकर उसे देश से बाहर भेजना अवैध है. इसके बावजूद बुद्ध की तस्वीरें कई दुकानों पर बेची जाती हैं. ख़रीदते वक़्त दुकानदार इसे साथ रखने पर चेतावनी भी देगा. भगवान बुद्ध की तस्वीरों को देश से बाहर ले जाने के लिए अनुमति लेनी होती है. बुद्ध की मूर्ति के क़रीब जाकर तस्वीर क्लिक करने से भी बचें.

8. Fork से खाना खाने से बचें

Source: videoblocks

थाईलैंड में अगर आपको खाना खाते समय चम्मच के साथ Fork दिया जाता है तो कृपया चम्मच से ही खाना खाएं क्योंकि यहां Fork खाना अशुभ माना जाता है. अगर किसी ने आपको Fork से खाते हुए देख लिया, तो वो आप पर गुस्सा भी हो सकता है.

9. हाथ मिलाने से भी बचें

Source: opodo.co

जापान के लोगों की तरह ही थाई भी अजनबियों से हाथ मिलाने में असहज महसूस करते हैं. वो दोनों हाथ जोड़कर और झुककर नमस्ते करना पसंद करते हैं. सामने वाले से भी इसी की उम्मीद रखते हैं. हालांकि छोटे बच्चों को ये सब करने की सलाह नहीं दी जाती क्योंकि ये उन्हें शर्मिंदा कर सकती है.

10. थाईलैंड में PDA से बचें

Source: scmp.com

अगर आप थाईलैंड में हो तो एम्स्टर्डम वाली हरकत करने से बचें. पब्लिक प्लेस पर गर्लफ़्रेंड को किस करने और चिपक कर चलने से भी बचने की कोशिश करें. थाई लोग इन मामलों में बेहद कंजर्वेटिव होते हैं.

11- तेज़ आवाज़ में बात करने से बचें

Source: breakbird.com

थाई लोग बेहद सॉफ़्ट स्पोकन होते हैं. उन्हें तेज़ आवाज़ में बात करना बिलकुल भी पसंद नहीं होता है. इसलिए ध्यान रखें कि अगर आप किसी रेस्टोरेंट में दोस्तों के साथ बैठे हों, तो तेज़ आवाज़ में बात करने से बचें. लोकल मार्केट में शॉपिंग करते वक़्त भी दुकानदारों से तेज़ आवाज़ में बात न करें तो बेहतर होगा.

अगर आप इन सभी बातों का ध्यान रखेंगे, तो ही आप थाई कल्चर को अच्छे से समझ पाएंगे.