भारत में बाबाओं के नाम पर न जाने कितने लोग ठगे जाते हैं. हाल ही में एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां एक बाबा ने पैसे के लालच में एक शख़्स को करोड़ो की चपत लगा दी.

खुद को 'बिल्डर बाबा' कहलवाने वाले सचिन दत्ता के दोस्त नरेंद्र बारमेचा ने ही उस पर आरोप लगया है कि उसने प्रोपर्टी में पैसे लगाने के लिए 11.25 करोड़ रुपये लिए और 2014 में उसे वापिस करने की बात कही. लेकिन इसके बाद से सचिन गायब हो गया और इलाहबाद में सचिदानंद गिरि महाराज के नाम से रहने लगा. वहां सचिन के कई भक्त भी हो गए थे.

नोएडा पुलिस को मिली शिकायत के बाद जब उन्होंने जांच शुरू कि तब पुलिस को पता चला कि उसने कई ऐसे घपले किए हुए हैं. सचिन का नोएडा के एक मॉल में Bar भी है. सचिन द्वारा किये गए एक और घपले का केस नोएडा के सेक्टर 58 में भी चल रहा है. जहां उसने एक फ़्लैट को कई लोगों को बेच दिए था.

इसके बाद पुलिस ने सचिन के लखनऊ स्थित घर पर छापा मारा, जहां उसे गिरफ़्तार किया गया.

हमारे देश में बाबा बन कर न जाने कितने ठग घूम रहे हैं, जिनकी वजह से साधुओं की छवि ख़राब हुई है. ये केस इसी बात का तो उदाहरण है कि आप घपला करें और साधु बन जाएं. कानून से बचने की उम्मीद काफ़ी बढ़ जाएगी.

Image Source: HT