मुंबई में 11 महीने की बच्ची ने सेफ़्टी पिन निगल ली, जिसके बाद लम्बी सर्जरी के बाद उसकी जान बचायी गयी. बच्ची की मां ने बताया कि बच्ची रोये जा रही थी और दूध या पानी पीने से माना कर रही थी. तब उन्हें समझ आया कि कुछ गड़बड़ है.

भायंदर में रह रहे परिवार की इस बच्ची की जान डॉक्टर्स ने बड़ी मशक्कत से बचायी. बच्ची की खाने की नाली में ये पिन फंस गयी थी, जिसे X-Ray में साफ़ देखा जा सकता है.

बच्ची की मां उसे Paediatrician के पास ले कर गयी थी, जहां पिन फंसी होने की बात पता चली. वहां से बच्ची को मीरा रोड स्थित Wockhardt Hospital भेज दिया गया. ENT सर्जन डॉक्टर Neepa Vellimuttam ने बताया कि बच्ची ने खुली हुई सेफ़्टी पिन निगल ली है, जो बच्ची के गले की Pharynx wall में फंस गयी है.

पहले डॉक्टर्स ने बच्ची को अनेस्थेसिया देकर चिमटी से पिन निकालने की कोशिश की. सफ़ल न होने पर उन्होंने Endoscopic Removal का तरीका चुना. पिन को निकाल कर बच्ची के पेट में छोड़ दिया गया. इसके बाद बिना किसी चोट के पिन को सफ़लतापूर्वक बाहर निकाल लिया गया.

बच्ची को 24 घंटे डॉक्टर्स की निगरानी में रखा गया और फिर घर भेज दिया गया. बच्ची के माता-पिता की भी काउंसलिंग की गयी और नुकीली वस्तुएं बच्चों की पहुंच से दूर रखने को कहा गया.

डॉक्टर वर्मा ने बताया कि अगर समय पर पिन नहीं निकाली जाती, तो बच्ची की इंटर्नल ब्लीडिंग के कारण जान भी जा सकती थी.

Source: Hindustantimes