देश के कोने-कोने से कई लोगों ने बड़ी-बड़ी हस्तियों के नाम चिट्ठी लिखने की कवायद शुरू कर दी है. कोई किसी अभिनेता के लिए लिखता है, तो कोई किसी मंत्री या अधिकारी को. अब 12 साल की एक आसामी बच्ची ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है. इस बच्ची ने मोदी जी को चिट्ठी लिख कर ये अनुरोध किया है कि भारत के इतिहास में उत्तर-पूर्व भारत और वहां के सात राज्यों का इतिहास भी जोड़ा जाए. इतिहास की किताबों में अपने राज्य के साथ-साथ उत्तर-पूर्व के राज्यों का इतिहास न पाकर बच्ची ने निराश होकर ये कदम उठाया गया है. असम की रहने वाली आयरा गोस्वामी जयपुर में रहती है और यहीं पढ़ती है.

पीएम को लिखे इस पत्र में बच्ची ने कहा है कि हर बच्चे को असम और नॉर्थ-ईस्ट के गौरवशाली इतिहास जानने की ज़रूरत है.

Source: Northeast Today

आइये आपको बताते हैं कि इस बच्ची ने चिट्ठी में क्या-क्या लिखा है.

मुझे भारत के हर हिस्से का इतिहास पता है, जम्मू से लेकर तमिलनाडु तक का, मुग़लों से लेकर ब्रिटिश तक और राजस्थान से कोलकाता तक. पर नॉर्थ-ईस्ट के 7 गौरवशाली राज्यों का इतिहास कहां है? कुछ बच्चों को तो ये भी पता नहीं है कि सेवेन सिस्टर्स किसको कहते हैं? किताबों में वहां की जानकारियां जुटा पाना बहुत मुश्किल है. अगर मैं किसी दिन अपनी किताबों में अपने राज्य असम के बारे में कुछ पढ़ लूं, तो मेरा सपना साकार हो जाएगा.

हिस्ट्री मेरा प्रिय सब्जेक्ट है, बाकियों की तरह. पर हैरानी की बात ये है कि मुझे मुग़ल, मौर्य और गुप्त वंश के बारे में पता है, पर अपने राज्य के बारे में कुछ नहीं पता. मैंने उनके ऊपर कई परीक्षाओं में भी लिखा है, पर कहीं मुझे ऐसा पढ़ने को क्यों नहीं मिलता है, जिसमें उन महान योद्धाओं का ज़िक्र हो, जिन्होंने मुग़लों को 600 साल तक असम में घुसने से रोके रखा. असम के वीर लचित बोर्फुकों और अहोम्स के बारे में कहीं क्यों नहीं कुछ लिखा गया?

Source: wikimedia

आयरा इस चिट्ठी का जवाब चाहती है. वो जानना चाहती है कि प्रधानमंत्री मोदी देश की एक नन्हीं नागरिक के लिए कुछ कर सकते हैं क्या? साथ ही उसने कहा है कि अगर प्रधानमंत्री जी असम समेत नॉर्थ-ईस्ट के इतिहास के लिए कुछ कर पाते हैं, तो वो उनकी शुक्रगुज़ार रहेगी.