किसी भी खिलाड़ी के लिए उसका पहला मैच बेहद ख़ास होता है, अगर पहले ही मैच में शतक बना दिया, तो वो यादगार बन जाता है. भारत के लिए कई बेहतरीन खिलाड़ियों ने सालों तक क्रिकेट खेला है. सुनील गावस्कर, सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली भारतीय क्रिकेट के वो शूरमा हैं जिन्होंने अपनी शानदार बल्लेबाज़ी से कई बार भारत को जीत दिलाई. इन खिलाड़ियों ने हज़ारों रिकार्ड्स बनाये और तोड़े, लेकिन ये सभी महान खिलाड़ी पहले मैच में शतक बनाने से चूक गए थे.

Source: financialexpress

4 अक्टूबर, 2018 को एक बार फिर इतिहास दोहराया गया. 18 साल के पृथ्वी शॉ को वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ भारतीय टीम में खेलने का मौका मिला और शानदार बल्लेबाज़ी करते हुए शतक भी जमाया. इसके साथ ही पृथ्वी पहले मैच में शतक बनाने वाले भारत के 15वें खिलाड़ी बन गए हैं.

आईये जानते हैं वो कौन-कौन से धुरंधर खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतक जमाया है.

1- लाला अमरनाथ

लाला अमरनाथ भारत के लिए टेस्ट शतक बनाने वाले पहले क्रिकेटर थे. उन्होंने साल 1933 में बॉम्बे जिमखाना ग्राउंड्स पर इंग्लैंड के ख़िलाफ़ अपने पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में 118 रन बनाये थे. लाला अमरनाथ आज़ाद भारत के पहले कप्तान भी थे.

2- दीपक शोधन

दीपक शोधन दूसरे भारतीय बल्लेबाज थे, जिन्होंने अपने पहले टेस्ट मैच में 8वें नंबर पर बल्लेबाज़ी करते हुए 110 रन की शानदार पारी खेली थी. शोधन ने साल 1952 में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ कोलकाता के ईडन गार्डन्स मैदान पर ये बेहतरीन शतक लगाया था.

3- कृपाल सिंह

कृपाल सिंह तीसरे ऐसे भारतीय खिलाड़ी थे, जिन्होंने साल 1955 में न्यूजीलैंड के ख़िलाफ़ हैदराबाद टेस्ट की पहली पारी में 100 रन की नाबाद शतकीय पारी खेली थी.

4- अब्बास अली बेग

अब्बास अली बेग ने साल 1959 में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ ओल्ड ट्रैफ़र्ड टेस्ट की दूसरी पारी में 112 रन की शानदार पारी खेली थी. अब्बास अली विदेशी धरती पर पहले टेस्ट मैच में शतक लगाने वाले पहले भारतीय भी बने.

5- हनुमंत सिंह

हनुमान सिंह ने साल 1963 दिल्ली में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेले गए अपने पहले टेस्ट की पहली पारी में 105 रन की दमदार पारी खेली थी. 5 टेस्ट मैचों की इस सीरीज़ में भारतीय कप्तान नवाब पटौदी ने पांचों बार टॉस जीता, लेकिन ये सभी टेस्ट मैच ड्रॉ रहे.

6- गुंडप्पा विश्वनाथ

भारत के बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक विश्वनाथ अपनी कलात्मक शैली की बल्लेबाज़ी के लिए जाने जाते थे. साल 1969 में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ कानपुर टेस्ट के दौरान करियर की पहली पारी में शून्य पर आउट होने के बाद दूसरी पारी में शानदार 137 रन बनाये थे.

7- सुरेंद्र अमरनाथ

लाला अमरनाथ के बेटे और मोहिंदर अमरनाथ के बड़े भाई सुरेंद्र अमरनाथ ने साल 1975 में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ ऑकलैंड टेस्ट की पहली पारी में 124 रन की लाजवाब पारी खेली थी. सुरेंद्र अमरनाथ भारत के लिए 10 टेस्ट और 3 वनडे ही खेल पाए.

8- मोहम्मद अज़हरुद्दीन

पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अज़हरुद्दीन ने साल 1984 में ईडन गार्डन्स मैदान पर इंग्लैंड के ख़िलाफ़ अपने पहले ही टेस्ट मैच में 110 रन की शानदार पारी खेली थी. अज़हर अपने पहले तीन टेस्ट में शतक लगाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी भी हैं.

9- प्रवीण आमरे

प्रवीण आमरे ने साल 1992 में दक्षिण अफ़्रीका जैसी मज़बूत टीम के ख़िलाफ़ उनके घर में जाकर अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतक लगाया था. आमरे ने किंग्समीड टेस्ट के दौरान एलन डोनाल्ड और ब्रायन मैकमिलन जैसे गेंदबाज़ों का सामना करते हुए 103 रन की साहसिक पारी खेली थी.

10- सौरव गांगुली

दुनिया का हर क्रिकेटर क्रिकेट के मक्का लॉर्ड्स के मैदान पर शतक बनाने का सपना देखता है. टीम इंडिया के सबसे सफ़लतम कप्तानों में एक सौरभ गांगुली ने साल 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ़ करियर के पहले टेस्ट मैच में 131 रन की लाजवाब पारी खेली थी.

11- वीरेंद्र सहवाग

टेस्ट क्रिकेट को वनडे की तरह खेलने वाले नजफ़गढ़ के नवाब वीरेंद्र सहवाग ने साल 2001 में Bloemfontein टेस्ट की पहली पारी में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 105 रन की धमाकेदार पारी खेली थी. सहवाग अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज़ ट्रिपल सेंचुरी बनाने वाले खिलाड़ी भी हैं.

12- सुरेश रैना

सुरेश रैना वनडे और टी-20 के बेहतरीन खिलाड़ी माने जाते हैं. साल 2010 श्रीलंका दौरे पर गई टीम इंडिया में रैना को पहली बार जगह मिली. कोलंबो के सिंहली स्पोर्ट्स क्लब ग्राउंड में खेले गए अपने पहले टेस्ट मैच में रैना ने 120 रन की शानदार पारी खेली थी.

13- शिखर धवन

टीम इंडिया के 'गब्बर' शिखर धवन ने साल 2012 में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ मोहाली टेस्ट के दौरान 187 रन की धमाकेदार पारी खेली थी. पहले टेस्ट में सबसे अधिक रन बनाने के मामले में शिखर आज भी पहले नंबर पर है.

14- रोहित शर्मा

हिटमैन के नाम से मशहूर रोहित शर्मा ने साल 2013 में वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ अपने पहले ही टेस्ट मैच में 177 की लाजवाब पारी खेली थी. रोहित ने ये शानदार शतक अपने फ़ेवरेट ईडन गार्डन्स मैदान पर लगाया था. रोहित वनडे क्रिकेट में तीन दोहरे शतक लगाने वाले दुनिया के इकलौते बल्लेबाज़ हैं.

15- पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ मात्र 18 साल की उम्र में अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतक बनाने वाले पहले भारतीय बन गए हैं. 4 अक्टूबर, 2018 को वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ राजकोट में खेले गए टेस्ट मैच की पहली पारी में शॉ ने 134 रन की शानदार पारी खेली, जबकि शतक मात्र 99 गेंदों में पूरा किया. पृथ्वी इससे पहले रणजी ट्रॉफ़ी और दिलीप ट्रॉफ़ी के पहले मैच में भी शतक लगा चुके हैं. ऐसा करने वाले वो पहले भारतीय हैं.

तो दोस्तों आप इस लिस्ट में अगला नाम किस भारतीय क्रिकेटर का देखना चाहते हैं और क्यों?