'यहां से दस-दस कोस दूर भी अगर बच्चा रोता है, तो उसकी मां कहती है कि सो जा बेटा सो जा, वरना गब्बर आ जाएगा.' इस डायलॉग से तो आप भली-भांति परिचित होंगे. 'शोले' फ़िल्म में गब्बर सिंह बॉलीवुड के इतिहास का सबसे शानदार और प्रभावी विलेन का किरदार रहा है. इस एक फ़िल्म ने पूरी दुनिया में इस शख़्स को रातों-रात स्टार बना दिया. इससे पहले देश में बहुत कम ही लोग इस किरदार को निभाने वाले कलाकार अमज़द ख़ान को जानते थे. अमज़द ख़ान का जन्म 12 नवम्बर 1940 को पेशावर में हुआ था. अमज़द ख़ान साब को कला विरासत में मिली थी. उनके पिता भी फ़िल्म इंडस्ट्री में खलनायक की भूमिका निभा चुके थे.

ऐसा नहीं है कि अमज़द ख़ान को इस फ़िल्म ने स्टार बनाया, इस फ़िल्म ने उन्हें खुद को साबित करने का मौका दिया. इस फ़िल्म के अलावा उन्हें अलग-अलग फ़िल्मों में अलग-अलग रोल मिले और हर रोल में उन्होंने अपने आप को शानदार कलाकार साबित किया. चाहे कॉमेडी रोल हो या सह-अभिनेता का या फिर एक विलेन का, वो हर रोल में फिट हो जाते थे. तभी तो उनकी कुछ फ़िल्में जैसे 'कालिया', 'मुकद्दर का सिकंदर', 'याराना', 'शतरंज के खिलाड़ी', 'क़ुर्बानी' में उनके अभिनय को आज भी लोग सराहते हैं.

आज उनकी जयंती के पर हम आपको रू-ब-रू करा रहे हैं, उनके द्वारा बोले गये कुछ सदाबहार डायलॉग्ज़ से.

1.

2.

3.

4.

5.

6.

7.

8.

9.

10.

11.

12.

13.

14.

15.

Designed By : Shruti Mathur