मुंबई के दादर रेलवे स्टेशन पर एक 15 साल की नेत्रहीन लड़की अपने पिता के साथ सफ़र कर रही थी. दोनों विकलांग कंपार्टमेंट में बैठे थे, जहां एक शख़्स ने लड़की को ग़लत तरीके से छूना शुरू कर दिया.

लड़की ने बदमाश की इस हरकत का मुंह तोड़ जवाब दिया. उसने आरोपी का हाथ मरोड़ कर ऐसा दांव लगाया कि वो उठ नहीं पाया. उसके बाद उसके पिता और आस-पास के लोगों ने उसे घेर लिया. अगला स्टेशन आने तक लड़की ने उसे दबोचे रखा.

Source: timesnownews

माटुंगा स्टेशन पर जब ट्रेन रुकी तो उसके पिता ने पूरा मामला रेलवे पुलिस को बताया, पुलिस ने आरोपी को तुरंत पुलिस ने हिरासत में ले लिया. आरोपी का नाम विक्रम बलीराम सिंह है, जो एक प्राइवेट फ़र्म में कम्प्यूटर टेक्निशियन है. उसे पुलिस ने महिला से छेड़छाड़, विकलांग कोच में सफ़र करने और बिना टिकट यात्रा करने के जुर्म में जेल भेज दिया है.

पुलिस अधिकारियों ने उस लड़की के साहस की तारीफ़ की है. उन्होंने बताया कि, लड़की ने उस बदमाश को ऐसे पकड़ रखा था कि अगर वो भागने की कोशिश करता तो उसकी उंगलियां टूट सकती थी.

Source: Klikly
टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए लड़की ने कहा कि 'इनके जैसे लोग हमें आसान शिकार समझते हैं. इन जैसे लोगों से निपटने के लिए हमें स्कूल में सेल्फ़ डिफ़ेंस की ट्रेनिंग दी जाती है. मैं चाहती हूं कि उसे कड़ी-से-कड़ी सज़ा मिले, ताकी फिर से वो ऐसे हरकत करने के बारे में सोच भी न सके.'

यहां उस लड़की की भी दाद देनी होगी, जिसने बिना डरे उस शख़्स का सामना किया. वेल डन!

Feature Image Source: Indianexpress