साल 2018 ख़त्म होने में बस कुछ ही दिन बचे हैं. ऐसे में हमारे पास फिलहाल साल की यादों को ताज़ा करने के सिवा बचा ही क्या है. सच कहूं तो ये साल वाकई में बड़ा मज़ेदार बीता. कभी अच्छी ख़बरों ने दिल को सुकून दिया, तो कभी बुरी ख़बरों ने विचलित किया. मगर वहीं इन अच्छी और बुरी ख़बरों के बीच कई ऐसी ख़बरें भी फैलाई गईं जो सच नहीं थीं. सोशल मीडिया के इस दौर में हमें हर एक मिनट के बाद कोई न कोई ख़बर सुनने और पढ़ने को मिलती रही. कुछ लोगों ने उन पर यकीन किया तो कुछ ने नहीं किया.

क्या आपने भी यकीन किया?

Source: atimes.com

तो चलिए क्यों न आज इस साल की उन ख़बरों को भी याद कर लिया जाए जिन्होंने सुर्ख़ियां तो ख़ूब बटोरी, लेकिन ये असल में Fake News थीं-

1- मोदी सरकार ने बेचा लालकिला   

Source: aajtak

लालकिले को बेचे जाने की ये ख़बर भी ख़ूब वायरल हुई थी. कई न्यूज़ चैनल्स ने तो यहां तक कह दिया था कि मोदी सरकार ने डालमिया ग्रुप को लाल किला मात्र 25 करोड़ रुपए में बेच दिया है, लेकिन ये ख़बर फ़ेक थी. डालमिया ग्रुप लाल किले के सौंदर्यीकरण और रख-रखाव पर हर साल पांच करोड़ ख़र्च करेगा.

2- धोनी होंगे 'वर्ल्ड कप 2019' के कप्तान

Source: sportskeeda

ख़बर तो ये भी आई थी कि इंग्लैंड में होने जा रहे 'वर्ल्ड कप 2019' के लिए महेंद्र सिंह धोनी को भारत का कप्तान बनाया जा सकता है. 

3- भारत में PUBG बैन

Source: prabhatkhabar

हाल ही में ख़बर आई थी कि महाराष्ट्र हाईकोर्ट ने ऑनलाइन गेम PUBG को भारत में बैन कर दिया है. लेकिन ये एक Fake News थी.  

4- बंद किया जायेगा 2000 का नोट

Source: hindustantimes

कुछ महीने पहले सोशल मीडिया में ये ख़बर फ़ैल रही थी कि मोदी सरकार जल्द ही 2 हज़ार का नोट बंद करने जा रही है. ये ख़बर भी झूठी निकली. दरअसल, दो हजार के नोट की सप्लाई इसलिए रोक दी गई थी क्योंकि मार्केट में पहले से ही दो हज़ार के काफ़ी नोट मौजूद थे. 

5- राहुल गांधी ने क्यों पकड़ा था महिला का हाथ?

Source: thelallantop

बात फ़ेक की हो रही हो और राहुल गांधी को लेकर कोई ख़बर न आये ऐसा कैसे हो सकता है? राहुल गांधी की भी एक तस्वीर ख़ूब वायरल हुई थी जिसमें वो स्टेज पर किसी महिला का हाथ पकड़े हुए नजर आए. ये महिला आदिवासियों के लिए काम करने वाले संगठन 'एकता परिषद' से थीं जो मंच से कांग्रेस का समर्थन कर रहीं थीं.

6- कमलनाथ थे राजीव गांधी के ड्राइवर

Source: amarujala

हाल ही में एक ख़बर आई थी कि मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री कमलनाथ पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के ड्राइवर थे, लेकिन ये ख़बर भी पूरी तरह फ़ेक निकली. दरअसल, कमलनाथ और राजीव बेहद क़रीबी दोस्त थे और कमलनाथ ने अपने दोस्त राजीव गांधी की जयंती के मौके पर ये तस्वीर अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर की थी. 

7- फ़ीफ़ा प्रेजिडेंट ने दी 'मोदी 420' वाली जर्सी

Source: amarujala

फ़ीफ़ा प्रेजिडेंट जियानी इन्फैंटीनो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक जर्सी दी, जिसपर लिखा था 'मोदी 420'. ये एक फ़ेक फ़ोटो थी. दरअसल, उस जर्सी पर 'मोदी जी20' लिखा हुआ था, जिसे फ़ोटोशॉप से 'मोदी 420' कर दिया गया था.

8- मनमोहन सिंह ने छुए सोनिया गांधी के पैर

Source: youtube.com

इस तस्वीर में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को सोनिया गांधी के पैर छूते हुए दिखाया गया था, लेकिन इस तस्वीर की सच्चाई ये थी कि एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने सोनिया गांधी के पैर छूए थे. ये भी पता चला कि असली तस्वीर नवंबर 2011 में ली गई थी और अब इसे सोशल मीडिया पर ग़लत कैप्शन के साथ वायरल किया जा रहा है.

9- ये हैं कुंभ मेले की तैयारियां

Source: amarujala

हाल ही में सोशल मीडिया पर ये तस्वीर भी ख़ूब वायरल हुई जिसमें कहा गया कि यूपी की योगी सरकार ने कुंभ मेले की तैयारियां शुरू कर दी हैं. बाद में सच्चाई सामने आई कि ये तस्वीर सऊदी अरब के मीना वैली में हज यात्रियों के लिए लगाए गए टैंट की थी. 

10- 'स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी' के सामने खाना पकाती ग़रीब महिला

Source: amarujala

इस तस्वीर के साथ लिखा गया था कि एक ओर 2,989 करोड़ रुपये की लागत में बना स्टेच्यू ऑफ यूनिटी है, तो दूसरी ओर एक ग़रीब महिला सड़क पर बैठ कर खाना पका रही है. दरअसल, ग़रीब महिला और उनके बच्चों वाली ये तस्वीर वास्तव में रयूटर्स की ओर से ली गई तस्वीर थी जिसे 'स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी की तस्वीर के साथ एडिट किया गया था.

11- पैरासीटामोल से 'माचुपो' वायरस होने का ख़तरा

Source: express

सोशल मीडिया पर एक ख़बर ख़ूब वायरल हुई थी कि पैरासीटामोल टेबलेट के अंदर 'माचुपो' नाम का वायरस है, लेकिन ये खबर भी फ़ेक निकली. 'माचुपो' नमक वायरस सिर्फ़ संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में आने से फ़ैलता है.

12- सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर बनने का फ़ैसला लोगों पर छोड़ा

Source: amarujala

कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर ये तस्वीर ख़ूब वायरल हुई. जिसमें कहा गया था कि सुप्रीम कोर्ट ने ये फ़ैसला लोगों पर छोड़ दिया है कि अयोध्या में क्या बनना चाहिए? साथ ही ये भी कहा गया कि वोटिंग में बाबरी मस्जिद को अधिक वोट मिल रहे हैं कृपया सभी हिंदू अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए वोट करें. बाद में ये ख़बर भी फ़ेक निकली.

13- मोदी ने रखा 15 लाख रुपये महीने पर निजी मेकअप आर्टिस्ट

Source: navbharattimes

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ये तस्वीर भी ख़ूब वायरल हुई, जिसमें एक महिला को मोदी जी का मेकअप करते हुए देखा जा रहा था. दरअसल 'मैडम तुसाद म्यूजियम' की ओर से एक महिला उनका बुत बनाने के लिए नाप ले रही थीं.

14- अमूल आइसक्रीम में सुवर की चर्बी

Source: littleapp.in

ये ख़बर WhatsApp पर ख़ूब वायरल हुई थी कि अमूल आइसक्रीम का स्वाद बढ़ाने के लिए सुवर की चर्बी मिलाई जा रही है, लेकिन एक्सपर्ट ने इस ख़बर को फ़ेक बताया.

15- क्या मोदी ने ओवैसी के पैर छुए थे?

Source: thelallantop

कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर एक तस्वीर ख़ूब वायरल हो रही थी जिसमें प्रधानमंती मोदी को अकबरुद्दीन ओवैसी के पैर छूते हुए दिखाया गया था. बाद में पता चला कि इस तस्वीर को फ़ोटोशॉप से एडिट किया गया था.

16- आरएसएस ने की थी भगत सिंह के लिए मौत की सजा की मांग

Source: indiatoday

कुछ समय पहले एक खबर आई थी कि आरएसएस के विचारक सत्यनारायण शर्मा ने भगत सिंह के ट्रायल के दौरान अंग्रेजों का प्रतिनिधित्व किया था और भगत सिंह के लिए मौत की सजा की मांग की थी. इतिहासकारों का कहना है कि इसमें रत्तीभर की भी सच्चाई नहीं है.

'स्कूपव्हूप हिंदी' के दर्शकों अगर आपके पास भी है कोई Fake News तो हमारे साथ शेयर करें.