अमेरिका में 11 सितम्बर को घटी घटना ने पूरे विश्व को हिलाकर रख दिया था. आतंकवाद का निशाना बने अमेरिका ने सोचा भी नहीं था कि11 सितम्बर का दिन विश्व के इतिहास में एक काले दिन की तरह दर्ज़ हो जाएगा.

इस घटना में हज़ारों लोग मारे गए थे. World Trade Center को 1973 में बनवाया गया था. इस इमारत का आखिरी दिन 9 सितम्बर 2001 था, जब एक प्लेन इसके ऊपरी हिस्से से आकर टकराया. ये हमला इतना ख़तरनाक था कि पूरी बिल्डिंग भरभरा कर ढहने लगी थी, इमारत में मौजूद लोग अपनी जान बचाने के लिए ज़िंदा ही इमारत के अलग-अलग तलों से नीचे कूदने लगे थे. इस पूरे मंज़र को याद करके दिल बैठ जाता है. हालांकि, अमेरिका ने उस व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया है, जिसने इस घटना को अंजाम दिया था. लेकिन इस घटना को कोई भुला नहीं सकता.

इस घटना के 17 साल बाद भी इसके कुछ दृश्य हमारे लिए आज भी अनदेखे हैं.

1. एक धमाका, जिसका धुंआ आज भी लोगों की आंखें नम कर देता है.

2. प्लेन टकराने के बाद बिल्डिंग को देखता व्यक्ति.

3. आंखों में खौफ़ भी और दर्द भी.

4. एक व्यक्ति की मदद करते दमकल कर्मचारी.

5. आग को पानी से बुझाते दमकल कर्मचारी.

6. ज़िंदगी के सभी रंग धमाके की धूल में मिल गए.

7. धूल के गुबार से बहार आते तीन शख़्स.

8. ये दृश्य किसी को भी समझा सकता है कि ये कितनी बड़ी त्रासदी थी.

9. मदद में जुटे दमकल कर्मचारी.

10. गहरे दर्द में खोया एक मददगार.

11. दुख की लहर इसके रोम-रोम में दौड़ रही होगी.

12. एक काला अध्याय.

13. इन सीढ़ियों पर कोई नहीं है, बस ख़ामोशी और दर्द है.

14. दर्दभरा संदेश देती तस्वीर.

15. इस मंज़र ने विश्व को हिला कर रख दिया था.

16. एक हंसता खेलता शहर, एकाएक दुख की चपेट में पहुंच गया.

आतंकवाद का निशाना बने अमेरिका ने भले ही बदला ले लिया हो, लेकिन उस त्रासदी का दर्द भूले नहीं भूलाया जाता. आज भी इस घटना की तस्वीरें लोगों के ज़हन में ज़िंदा हैं. एक देश ही नहीं, पूरा विश्व आतंक के उस मंज़र को आज भी अपनी निगाहों में समेटे हुए है, जो बेहद खौफ़नाक और दर्दनाक था.