केरल के Vazhakkad, Malappuram में करीब 17 मस्जिद अब ध्वनि प्रदूषण को रोकने के लिए सिर्फ़ एक अज़ान करेंगी. नमाज़ के लिए लोगों को ऊंचे स्वर में बुलाने को अज़ान कहते हैं, इसमें अधिकतर लाउड स्पीकर का प्रयोग होता है.

The News Minute की रिपोर्ट के अनुसार, इन सभी मस्जिदों की कमेटी ने आस-पास के लोगों को होने वाली परेशानी को ध्यान में रखते हुए सिर्फ़ एक अज़ान करने का फ़ैसला किया है. ये सभी मस्जिदें ऐसा पिछले पांच दिन से कर रही हैं.

Source- Muslim Era Representational Image

Vazhakkad Mosques Committee के अध्यक्ष टीपी अब्दुल अज़ीज़ ने TNM से बताया कि-

अधिकतर लोग इस पक्ष में थे कि हम ध्वनि प्रदूषण को कम करें. ये फ़ैसला कई बैठकों और चर्चा के बाद लिया गया है.

समिति के सदस्यों द्वारा हुए समझौते में लिखा है कि विजय जुमा मस्जिद, जो कि इलाके की सबसे बड़ी मस्जिद है, सिर्फ़ वहीं लाउड स्पीकर का इस्तेमाल होगा, बाकी बिना स्पीकर के अज़ान करेंगी.

लाउड स्पीकर का विरोध अप्रैल में सोनू निगम ने भी किया था, जिसके बाद उनके खिलाफ़ फ़तवा जारी हुआ था. बाद में सोनू मीडिया के सामने गंजे हो गए थे.

Source- The News Minute