पिछले कई दिनों से सोशल मीडिया पर एक जानलेवा गेम Blue Whale Challenge चल रहा है, जिसकी गिरफ़्त में आकर कई मासूम बच्चों ने अपनी जान गवां दी है. इन दिनों ये गेम इंडिया में भी बच्चों को अपना निशाना बना रहा है. हालांकि कुछ दिन पहले ही खबर आई थी कि इस गेम के मास्टर माइंड को पकड़ लिया गया है. लेकिन हाल ही में आई खबर से ऐसा तो नहीं लग रहा है. इस गेम के चलते कर्नाटक के 20 बच्चों के हाथों पर काटने के निशान मिले हैं.

Source: HT

ये खबर कर्नाटक के बेलगावी जिले में स्थित केन्द्रीय विद्यालय की है, जहां स्कूल प्रशासन ने Blue Whale Challenge खेल रहे 20 स्टूडेंट्स की जान बचा ली है. स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन के अनुसार, उनको शक था कि ये स्टूडेंट्स पिछले कई दिनों से Blue Whale Challenge खेल रहे थे.

TOI के अनुसार, इस केंद्रीय विद्यालय की 8वीं और 10वीं क्लास के 20 स्टूडेंट्स ख़तरनाक ब्लू व्हेल चैलेन्ज गेम की गिरफ्त में थे. इनमें 16 लड़के और 4 लड़कियां थीं. जब टीचर्स ने इन सभी के हाथों पर चाकू के काटने के निशान देखे, तो उनको शक हुआ कि ये बच्चे Blue Whale Challenge खेल रहे हैं. जब बच्चों से पूछा गया कि ये चोट कैसे लगी तो हर किसी ने अलग-अलग कारण बताया. उसके बाद सभी बच्चों के पेरेंट्स को स्कूल बुलाया गया और उनको बच्चों के Blue Whale Challenge फंसे होने के बारे में बताया गया. साथ ही बच्चों और पेरेंट्स की काउंसलिंग कर उनको इस खेल के दुष्परिणामों के बारे में भी बताया गया.

हालांकि, स्कूल के प्रिंसिपल ने TOI को बताया, 'मैंने स्टूडेंट्स से काफी डिटेल में पूछताछ की और तब मुझे पता चला कि ये काटने के निशान दूसरे स्टूडेंट्स को आकर्षित करने के लिए थे, उसके अलावा कुछ नहीं.'

Source: intoday

गौरतलब है कि Blue Whale Challenge के एडमिनिस्ट्रेटर चैलेंजर को 50 टास्क देता है, जिनको उस चैलेंजर को फ़ॉलो करना पड़ता है. इन टास्क में रात-बेरात जागना, डरावने वीडियो देखना, एडमिनिस्ट्रेटर द्वारा भेजे गए संगीत को सुनना, अकेले समुद्री तटों और कब्रिस्तान में घूमना आदि शामिल होते हैं. इस गेम का आखिरी टास्क किसी ऊंची इमारत से कूद कर अपनी जान लेना है.

ये भी पढ़ें: जब हममें प्रभाव डालने की क्षमता है, तो बुराई की तरफ़ क्यों? अच्छाई की तरफ़ क्यों नहीं?

Source: timesofindia

Feature Image Source: HT