अमेरिका के टेक्सास में स्थित एक चर्च में फ़ायरिंग हुई. इस दर्दनाक घटना में 26 लोगों की मौत हो गई जबकि अन्य 20 लोग घायल हो गए. ख़बरों के मुताबिक, रविवार की प्रार्थना सभा के दौरान एक बंदूकधारी चर्च में घुसा और अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी. टेक्सास के गवर्नर ग्रेग एबॉट ने 26 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है. मृतकों में एक गर्भवती महिला के साथ-साथ 5 साल के बच्चे से लेकर 72 साल की बुजु़र्ग महिला तक शामिल हैं.

दर्दनाक घटना में चर्च के पादरी फ़्रैंक पोमेरॉय की 14 वर्षीय बेटी एनाबेल भी मारी गई. पोमेरॉय ने एबीसी न्यूज को बताया, ‘जब गोलीबारी हुई तब मैं चर्च में नहीं था.’

Image Source : theadvocate
वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए कहा, 'हम पीड़ितों के परिवार के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते हैं, मैं जापान से ही हालात पर नज़र बनाए हुए हूं. इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि प्रशासन टेक्सास के लोगों को पूरा सहयोग प्रदान करेगा और स्थानीय अधिकारी घटना की जांच कर रहे हैं.' बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जापान के दौरे पर हैं.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सदरलैंड स्प्रिंग्स स्थित चर्च में यह हमला सुबह 11.30 बजे हुआ. चर्च के आसपास भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दी गई है. साथ ही घायलों को अस्पताल ले जाने के लिए लाइफ़ सपोर्ट हेलिकॉप्टर भी मंगाए गए हैं. पुलिस ने बताया, हमलावर अपनी गाड़ी में मृत पाया गया, उसकी कार दुर्घटनाग्रस्त थी. हालांकि, अभी ये साफ़ नहीं हो सका है कि हमलावर ने सुसाइड किया या उसका सामना करने वाले नागरिक ने उसे मार गिराया.

बता दें, मारे गए हमलावर की पहचान केविन पैट्रिक केली के रूप में हुई है. 26 वर्षीय पैट्रिक को 2014 अमेरिकी एयरफ़ोर्स से बाहर निकाल दिया गया था.

Source : timesofindia