अपराधियों में अपने ग़ैरकानूनी कामों को अंजाम देने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग तेज़ी से बढ़ा है. अपराधी फ़ेसबुक लाइव पर हत्या से लेकर बलात्कार जैसे घिनौने अपराधों को अंजाम दे रहे हैं.

दिल्ली से एक और अपराध की ख़बर सामने आई है. यहां पर 3 औरतों ने एक डेढ़ साल के बच्चे को Whats App के द्वारा बेचने की कोशिश की. इन औरतों ने 1.8 लाख में बच्चे को बेचने की कोशिश की. पुलिस को शक़ है कि ये तीनों औरतें ग़ैरकानूनी Adoption करवाने वाले गिरोह की सदस्य होंगी.

बच्चे को जामा मस्जिद के बाहर से अगवा किया गया था. बच्चे को दिल्ली में 6 अलग-अलग जगहों पर ले जाया गया था. तीनों औरते ही बच्चे को ऊंचे भावों में बेचना चाहती थी.

Whats App पर बच्चे की तस्वीर देखकर कुछ लोगों ने पुलिस को सूचना दी. पकड़े जाने के डर से एक महिला ने बच्चे को रघूबीर नगर के एक मंदिर में छोड़ दिया और ख़ुद ही पुलिस को सूचना दी. लेकिन इनाम का लालच देकर पुलिस ने महिला को पकड़ लिया. पुलिस ने इस मामले में अब तक 4 लोगों को हिरासत में लिया है.

पूछताछ के दौरान ही एक अपराधी, जान मोहम्मद ने पुलिस को बताया कि बच्चे को 5 जून को जामा मस्जिद के गेट नंबर 1 से उठाया गया था. अगवा करने के बाद जान मोहम्मद ने बच्चे को राधा को सौंप दिया, जिसने बच्चे को अपने साथ रखा. राधा ने बच्चे को,1 लाख रुपये में बच्चे को बेच दिया. सोनिया ने उसे सरोज को बेचा, सरोज ने ही बच्चे की तस्वीर Whats App पर बेचने के लिए डाली.

बच्चे को ढूंढने के लिए पुलिस ने लोकल केबल ऑपरेटर से संपर्क किया, जिसने बच्चे की तस्वीर टी.वी. पर दिखाई. एक Whats App यूज़र ने ही बच्चे को पहचान लिया और पुलिस को सूचना दी.

Source: TOI