बच्चों के साथ यौन-शोषण के मामले दिन ब दिन बढ़ते जा रहे हैं. इनमें से कई मामले छिपा-दबा लिए जाते हैं, बदनामी के डर से कई माता-पिता बच्चों को घटना को बुरे सपने की तरह भूल जाने कह देते हैं.

कुछ माता-पिता बच्चों के यौन-शोषण की रिपोर्ट भी लिखवाते हैं. कई मामले को आगे बढ़ते हैं और बाक़ायदा उनकी जांच होती है.

न्याय की उम्मीद और यक़ीन के साथ सिस्टम के पास आए माता-पिता को वही व्यवस्था अंगूठा दिखा दे तो?

कुछ ऐसा ही हुआ है एक बच्ची के माता-पिता के साथ, जो अपनी बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म की रिपोर्ट लिखवाने गए थे. उन्हें पुलिस का ग़ैर-ज़िम्मेदार रवैया झेलना पड़ा.

पुलिस के ग़ैर-ज़िम्मेदार रवैये से दुखी होकर माता-पिता ने फ़ेसबुक का सहारा लिया और एक वीडियो के ज़रिए मदद की गुहार लगाई.

दिल्ली में रहने वाले इस कपल ने नर्सरी में पढ़ने वाली अपनी 3 साल की बच्ची की आप-बीती सुनाई, जिसे सुनकर किसी के भी रौंगटे खड़े हो जाएंगे. माता-पिता का आरोप है कि बच्ची के साथ स्कूल में यौन-शोषण किया गया है.

फ़ेसबुक पोस्ट में बच्ची के माता-पिता ने बताया कि अगस्त में बच्ची एक बार स्कूल से घर वापस आयी, तो उसका अंडरवियर नहीं था.

वीडियो जिस माता-पिता ने डाली है, वीडियो डालने के बाद एक पोस्ट में उन्होंने लिखा है कि ये उनके दोस्त की बच्ची के साथ हुआ है.

वी़डियो में अंत में ये दोनों कहते हैं:

'आज ये हमारी बच्ची के साथ हुआ है कल को किसी की भी बच्ची के साथ हो सकता है.'

इस मामले पर और जानकारी मिलते ही हम आपको बताएंगे. सोचिए, उस माता-पिता के बारे में जिन्हें अपनी बच्ची की अंडरवेयर में ख़ून के धब्बे मिले होंगे, सोचिए उस माता-पिता के बारे में जो इस देश की क़ानून-व्यवस्था इस क़दर दुखी हो गए कि उन्हें फ़ेसबुक वीडियो के ज़रिए मदद की अपील करनी पड़ी.

इन सब के अलावा सोचिए क्या बीती होगी उस बच्ची पर, जो ठीक से अभी अपने कपड़े पहनने लायक भी नहीं हुई है.