पाकिस्तानी कलाकार हिन्दी सिनेमा में हमेशा से काम करते आए हैं. कई पाकिस्तानी कलाकारों ने बॉलीवुड को यादगार फ़िल्में दी है. 'हिना' की ज़ेबा बख़्तियार हो या फिर 'निक़ाह' की सलमा आगा. सबने अपने बेहतरीन अभिनय से हिन्दुस्तानी दर्शकों के दिलों पर राज किया है.

अब भी कई ऐसे पाकिस्तानी कलाकार हैं, जो बॉलीवुड में काम करना चाहते हैं. आइए आज आपको उन पाकिस्तानी कलाकारों के बारे में बताते हैं, जिन्होंने हिन्दी सिनेमा में काम किया है.

1. सबा कमर

Source: Showbizlounge

सबा कमर ने हाल ही आई फ़िल्म 'हिन्दी मीडियम' में काम किया, जिसमें उनके साथ इरफ़ान खान थे. फ़िल्म में सबा के अभिनय की काफ़ी तारीफ़ हुई.

2. मोमल शेख़

Source: Arynews

मोमल शेख़ ने बॉलीवुड में अपने अभिनय की शुरूआत 'हैप्पी भाग जाएगी' से की. इस फ़िल्म में मोमल के साथ अभय देओल थे. फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर कोई खास सफ़ल तो नहीं हुई, लेकिन मोमल के काम को काफ़ी सराहा गया. मोमल पाकिस्तानी एक्टर जावेद शेख़ की बेटी हैं.

3. Mawra Hocane

Source: Starsunfolded

Mawra को प्रसिद्धी 'अहिस्ता-अहिस्ता' और 'निखर गए गुलाब सारे' जैसे धारावाहिकों से मिली. मावरा की बॉलीवुड में एन्ट्री 2016 में रिलीज़ हुई फ़िल्म 'सनम तेरी कसम' से हुई,

4. माहिरा खान

Source: Ppadmad

माहिरा खान का नाम 10 Sexiest Asian Women 2015 की सूची में शामिल था और इन्हें सबसे सेक्सी पाकिस्तानी महिला के तौर पर भी चुना गया था. माहिरा ने 'रईस' (2017) फ़िल्म से बॉलीवुड में शुरूआत की.

5. फ़वाद खान

Source: Dawn

पाकिस्तान के हैंडसम हंक फ़वाद खान को पहचान उनकी पाकिस्तानी फ़िल्म 'ख़ुदा के लिए' से मिली. इसके अलावा फ़वाद 'हमसफ़र' और 'ज़िन्दगी गुलज़ार है' जैसे धारावाहिकों से भी खासे लोकप्रिय हुए. फ़वाद ने बॉलीवु़ड में शुरूआत 'ख़ूबसूरत' से की, जिसमें उनके साथ सोनम कपूर थी. इसके अलावा फ़वाद ने 'कपूर एंड सन्स' में अभिनय किया है.

6. इमरान अब्बास

Source: Tribune

इमरान 'ख़ुदा और मोहब्बत', 'मेरा नसीब' जैसे धारावाहिकों में निभाई गई अपनी भूमिकाओं की वज़ह से जाने जाते हैं. इमरान ने बॉलीवु़ड में अपना डेब्यू सुपरनेचुरल फ़िल्म 'Creature 3D' से किया.

7. मीरा

Source: Dawn

मीरा का असली नाम Irtiza Rubab है. मीरा की भट्ट कैम्प से काफ़ी नज़दीकी थी. बॉलीवुड में उनकी एन्ट्री भी भट्ट कैम्प की ही फ़िल्म 'नज़र' (2005) से ही हुई थी. हालांकि, ये फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर कुछ ख़ास सफ़ल नहीं रही.

8. वीना मलिक

Source: Wikipedia

वीना मलिक शायद भारत में काम करने वाले सभी पाकिस्तानी कलाकारों में सबसे ज़्यादा चर्चित रही हैं. वीना मलिक ने सबसे पहले 2003 में भारतीय पंजाबी फ़िल्म 'पिंड दी कुड़ी' में अभिनय किया. इसके बाद से वीना 'ज़िन्दगी 50-50' और 'सुपर मॉडल्स' जैसी कई बॉलीवुड फ़िल्मों में नज़र आ चुकी हैं.

9. अली ज़फ़र

Source: IndianExpress

भारत में काम करने वाले सभी पाकिस्तानी कलाकारों में सबसे ज़्यादा अली ज़फ़र ही सफ़ल रहे हैं. अली अभिनेता के साथ-साथ गायक और संगीतकार भी हैं. ज़फ़र को लोकप्रियता अपने पहले म्यूज़िक एलबम से मिली, जिसकी वर्ल्ड वाइड, 50 लाख कापियां बिकीं. अली ज़फ़र ने बॉलीवुड में एन्ट्री कॉमिक फ़िल्म 'तेरे बिन लादेन' (2010) से की. इसके बाद से अली 'टोटल स्यापा', 'चश्मे बद्दूर' से ले कर 'मेरे ब्रदर की दुल्हन' जैसी कई फ़िल्मों में नज़र आ चुके हैं.

10. आदिल चौधरी

Source: Dawn

आदिल एक पाकिस्तानी डेंटिस्ट के साथ-साथ गायक और गीतकार भी हैं. आदिल की बॉलीवुड में एन्ट्री हॉरर फ़िल्म 'भानगढ़' ( 2013) से हुई है.

11. Mikaal Zulfiqar

Source: Trueseconds

Mikaal ने अपने नाटक 'इंडस्ट्री' से लोगों का ध्यान अपनी तरफ़ खींचा. इसके बाद Mikaal ने अपना रुख़ बॉलीवुड की तरफ़ किया और 'शूट ऑन साइट' (2008) से हिन्दी फ़िल्मों में डेब्यू किया. हालांकि, Mikaal को पहचान 'बेबी' फ़िल्म में निभाए गए अपने सकरात्मक किरदार से मिली.

12. लैला खान

Source: Dawn

लैला खान को बॉलीवुड में मौका, बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार रहे राजेश खन्ना ने दिया था. 2008 आई 'वफ़ा' से लैला ने अपने बॉलीवुड कैरियर का आगाज़ किया. हालांकि ये फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर बुरी तरह से असफ़ल रही.

13. सारा लॉरेन

Source: Pakdestiny

सारा का वास्तविक नाम मोना हुसैन है. सारा को बॉलीवुड में लाने का श्रेय पूजा भट्ट को है, जिन्होंने सारा को 'कजरारे' (2010) में मौका दिया. इसके अलावा सारा ने 'मर्डर 3' में भी अभिनय किया है.

14. हुमैमा मलिक

Source: Zeenews

हुमैमा को लोग उनकी पाकिस्तानी फ़िल्म 'बोल' में निभाए गए शानदार किरदार की वज़ह से जानते हैं. बॉलीवुड में हुमैमा ने अपना डेब्यू 'राजा नटवरलाल' (2014) से किया. इस फ़िल्म में उनके साथ इमरान हाशमी थे.

15. सोनिया जहां

Source: Dawn

मशहूर गायिका नूरजहां, सोनिया जहां की दादी थी. सोनिया 'ताजमहल' (2005), 'खोया-खोया चांद' और 'माई नेम इज़ खान' जैसी फ़िल्मों में काम कर चुकी हैं. सोनिया करांची में एक रेस्टोरेंट की मालकिन भी हैं.

16. मीशा शफ़ी

Source: Bijlinews

मीशा बहुमुखी प्रतिभा की धनी हैं. एक अभिनेत्री होने के साथ-साथ मीशा गायिका और मॉडल भी हैं. मीशा ने अपने कैरियर की शुरूआत मीरा नायर की हॉलीवुड फ़िल्म 'The Reluctant Fundamentalist' (2012) से की. इसके अलावा मीशा 'भाग मिल्खा भाग' (2013) में भी सपोर्टिंग रोल निभा चुकी हैं.

17. Shehroz Sabzwari

Source: Tribune

Shehroz पाकिस्तानी एक्टर बहरोज़ के बेटे हैं, जिन्हें 'खुले आसमान के नीचे' में निभाए गए उनके शानदार रोल के लिए जाना जाता है. Shehroz ने 'Luv's Story' (2016) से बॉलीवुड में एन्ट्री की है. जिसमें शहरोज़ के साथ रिया सेन और मुकेश तिवारी जैसे कलाकार थे.

18. Moammar Rana

Source: Hipinpakistan

Moammar ने अपना बॉलीवुड डेब्यू 'दोबारा' (2004) फ़िल्म से किया. जैकी श्रॉफ़ और महिमा चौधरी स्टारर इस फ़िल्म में मौमार का कैमियो रोल था. इसके बाद Moammar ने 2010 में जैकी श्रॉफ़ के साथ ही 'एक सेकेण्ड, जो ज़िन्दगी बदल दे' में भी नज़र आए थे.

19. हुमायूं सईद

Source: Tribune

हुमायूं ने अपने बॉलीवुड कैरियर की शुरूआत 'जश्न' (2009) से की थी, जो शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन की भी पहली फ़िल्म थी. ये फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर बुरी तरह असफ़ल साबित हुई.

20. अनीता अयूब

Source: Abpnews

अनीता को बॉलीवुड में मौका सदाबहार अभिनेता देव आनन्द ने अपनी फ़िल्म 'प्यार का तराना' (1993) के जरिए दिया. ये फ़िल्म असफ़ल रही है, लेकिन इसके बाद भी देव आनन्द ने 'गैंगस्टर' में फिर से अनीता को मौका दिया.

21. सना नवाज़

Source: Modelsfashionpk

सना ने अपने बॉलीवुड कैरियर की शुरुआत 2007 में 'काफ़िला' से की. इसमें सना के साथ सनी देओल थे.

22. सोमी अली

Source: Bollywoodjournalist

सोमी अली को ज़्यादातर लोग उनकी एक्टिंग के बजाए सलमान की गर्लफ़्रेंड होने की वज़ह से ज़्यादा जानते हैं. सोमी ने अपने कैरियर की शुरुआत 'अन्त' (1993) से की. इसके अलावा सोमी अली ने 'यार गद्दार' और 'आन्दोलन' जैसी फ़िल्मों में भी काम किया.

23. ज़ेबा बख़्तियार

Source: Pakistani

ज़ेबा ने धारावाहिक 'अनारकली' में लीड रोल निभाया था. बॉलीवुड में ज़ेबा की एन्ट्री राजकपूर के निर्देशन में बनी 'हिना' (1991) से हुई. इसमें उनके साथ ऋषि कपूर थे. ये फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर बेहद सफ़ल साबित हुई.

24. अली खान

Source: Apnatvzone

अली खान अपने संजीदा अभिनय की वज़ह से जाने जाते हैं. अली ने बॉलीवुड में अपने अभिनय की शुरुआत 'Sssshhhh' (2003) से की. इसके अलावा अली 'लक बाई चांस' और 'डॉन 2' जैसी फ़िल्मों में भी नज़र आ चुके हैं.

25. राशिद नाज़

Source: Indianexpress

राशिद को पाकिस्तानी फ़िल्म 'ख़ुदा के लिए' में मौलाना के निभाए गए किरदार के लिए जाना जाता है. राशिद ने वैसा ही किरदार अपनी पहली बॉलीवुड फ़िल्म 'बेबी' (2015) में भी निभाया.

26. सलमा आगा

Source: Hindi-Samachar

अगर आपने दिल के 'अरमां आंसुओं में बह गए' गाना सुना होगा तो आपको सलमा आगा भी याद होंगी. उनकी पहली बॉलीवुड फ़िल्म 'निक़ाह' (1982) थी. इसके अलावा सलमा की 'पति, पत्नी और तवायफ़' भी एक चर्चित फ़िल्म थी.

27. साशा आगा

Source: Celebbra

साशा आगा, सलमा आगा की बेटी हैं. अपनी मां के नक्शेकदम पर चलते हुए साशा ने भी बॉलीवुड में कैरियर बनाने की कोशिश की. साशा की पहली फ़िल्म 'औरंगज़ेब' (2013) थी, जिसमें इनके साथ अर्जुन कपूर थे.

28. जावेद शेख़

Source: GalaxyLollywood

जावेद शेख़ ने ज़्यादातर बॉलीवुड फ़िल्मों में सहायक किरदार ही निभाए. उनकी पहली बॉलीवुड फ़िल्म 'शिकार' (2005) थी. इसके अलावा जावेद ने 'नमस्ते लंदन' और 'ओम शान्ति ओम' जैसी फ़िल्मों में भी काम किया है.

29. मोहसिन खान

Source: Fanphobia

मोहसिन पाकिस्तानी टीम के क्रिकेटर भी रह चुके हैं. मोहसिन ने बॉलीवुड में अपनी शुरुआत 'बंटवारा' (1989) से की. इसके अलावा मोहसिन ने 'फ़तेह' और 'साथी' जैसी फ़िल्मों में भी काम किया. मोहसिन का निक़ाह, भारतीय अभिनेत्री रीना राय के साथ हुआ था.

30. नदीम

Source: Livetv

नदीम ने अपने बॉलीवुड कैरियर की शुरुआत 'दूर देश' (1986) से की थी. इसमें नदीम का नकरात्मक किरदार था और राज बब्बर मुख्य भूमिका में थे.

31. सलमान शाहिद

Source: Shefridaytimes

सलमान शाहिद ने 'काबुल एक्सप्रेस' (2005) के साथ बॉलीवुड में डेब्यू किया था. इसके अलावा सलमान ने चुनिंदा बॉलीवुड फ़िल्मों में ही काम किया है.

32. तलत हुसैन

Source: Pakistani

पाकिस्तान में तलत, फ़िल्म और टेलीविज़न दोनों में काम करते हैं. तलत ने 'सौतन की बेटी' (1989) में एक वकील का किरदार निभाया था. इस फ़िल्म में जितेन्द्र, जयाप्रदा और रेखा जैसे बेहतरीन अदाकार मुख्य भूमिकाओं में थे.

इनके अलावा भी कई पाकिस्तानी कलाकारों ने हिन्दी फ़िल्मों में छोटी-मोटी भूमिकाएं निभाई हैं. भारत के भी नसीरूद्दीन शाह और ओमपुरी जैसे दिग्गज़ कलाकार नाटकों में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तान जाते रहे हैं. कुल मिलाकार ये कहा जा सकता है कि कलाकारों के लिए सरहद कोई मायने नहीं रखती. कलाकार सिर्फ़ कलाकार होते हैं.

Article Source: Moviemistakes