भारत में हर साल एसिड अटैक की कई भयावह घटनाएं होती हैं. ज़्यादातर मामलों में शिकार लड़कियां ही होती हैं. तेज़ाब से घायल इन पीड़ितों की मदद के लिए भारत में Stop Acid Attack नाम का कैंपेन भी चल रहा है. लेकिन गुरुवार को एसिड अटैक की ये घटना अपने देश से नहीं बल्कि दुनिया के विकसित शहरों में शुमार लंदन से सामने आई.

इस घटना में पागलपन का अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता था कि दो बेलगाम हमलावर राह चलते किसी पर भी तेज़ाब फेंक दे रहे थे. ये दो सिरफिरे पूरे शहर में अलग-अलग लोगों पर एसिड फेंकते रहे. 90 मिनट के अंदर ही इन लोगों ने पांच लोगों को अपना शिकार बनाया था. इनमें से एक किशोर है जिसे बाद में पुलिस ने पकड़ लिया.

सबसे पहले इन दोनों ने एक 32 साल के मोपेड सवार को अपना निशाना बनाया. दोनों ने मोपेड पर सवार व्यक्ति पर एसिड फेंका और फिर उसका मोपेड लूट कर ले गए. पुलिस ने बताया कि इसके 20 मिनट बाद ही, रात करीब 10:50 बजे हमलावरों ने अपर स्ट्रीट जंक्शन पर एक और व्यक्ति पर तेज़ाब से हमला किया. इस व्यक्ति को उत्तरी लंदन के एक अस्पताल ले जाया गया.

ये सिरफिरे यहीं नहीं रुके. इसके कुछ ही देर बाद इन्होंने 11:05 बजे Shoreditch हाइ स्ट्रीट पर एक और आदमी पर भी तेज़ाब फेंका.

सिरफिरों का तांडव मानो खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा था. 15 मिनट बाद ही इन लोगों ने Cazenove Road पर एक और शख़्स को अपना शिकार बनाया. पुलिस का कहना है कि इस शख़्स का चेहरा इस हमले के बाद गंभीर रूप से घायल हो गया है.

11:37 पर आख़िरी हमले की रिपोर्ट दर्ज की गई. बेलगाम हमलावरों ने Chatsworth Road पर फिर से एक मोपेड सवार पर हमला किया और उसकी मोपेड लेकर भाग गए.

29 साल की एक सब-एडिटर ने बताया कि घटना करीब रात 10:30 बजे की है. जिस व्यक्ति पर हमला हुआ था वो ठीक उनके दरवाज़े पर खड़ा था. पुलिस उसके ऊपर पानी डाल रही थी. आसपास पुलिस की गाड़ियां और एंबुलेंस खड़ी थी और घटनास्थल को सील कर दिया गया था.

वो व्यक्ति खड़ा था और उसकी हालत ठीकठाक थी. दस-पंद्रह मिनट बाद तो वो खुद चलकर एंबुलेंस तक गया. एंबुलेंस को भी बिना साइरन के आराम से ले जाया जा रहा था.

इतने में अलग-अलग फूड डिलीवरी कंपनी के कई मोपेड सवार वहां इकट्ठा हो गए. लड़की ने कहा कि शायद वो लोग घटना के बारे में सुनकर वहां आ गए होंगे.

क्या लंदन और क्या भारत, ऐसे सिरफिरों का समाज या शहर से कोई लेना-देना नहीं होता है. लंदन जैसे सभ्य माने जाने वाले शहर में इस तरह की घटना किसे नहीं डराएगी? अब ज़रूरत है कि लंदन पुलिस जल्द से जल्द हमलावरों के खिलाफ़ कार्यवाई करे. Hackney CID के अधिकारी घटना की जांच कर रहे हैं. इस मामले में एक किशोर को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है.

Article Source : Metro