किसी डॉक्टर के लिए मरीज़ के दिमाग़ का ऑपरेशन जितना क्रिटिकल होता है, उतना ही उस मरीज़ के लिए दर्दनाक. पर क्या आप सोच सकते हैं कि कोई मरीज़ अपने ऑपरेशन के दौरान पूरे होशो-हवास में लेटा हो और अपना पसंदीदा काम कर रहा हो, ख़ासकर कि तब जब ऑपरेशन दिमाग़ का हो. हम और आप ये सोच ही नहीं सकते, लेकिन अमेरिका में ऐसा हुआ है. जी हां, अमेरिका में दिमाग़ के क्रिटिकल ऑपरेशन के दौरान ऐसा कारनामा किया है एक बांसुरी वादक महिला ने.

इस बहादुर महिला का नाम Anna Henry है, जो 63 साल की हैं. Anna Henry पेशे से एक बांसुरी वादक (Flute Player) हैं. अपने मुश्किल ऑपरेशन के दौरान वो ऑपरेशन थिएटर के माहौल को नॉर्मल करने के लिए लगातार बांसुरी बजाती रहीं. जैसे ही डॉक्टर्स ने उनके सिर में कट लगाया और उनकी खोपड़ी को खोला, Anna ने OT में एक मेलोडियस धुन बजाना शुरू कर दिया. Anna के दिमाग़ की सर्जरी मेमोरियल हर्मन-टेक्सास मेडिकल सेंटर में चल रही थी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Anna एक अजीब लेकिन वंशानुगत बीमारी Essential Tremor की शिकार थीं. इस बीमारी में व्यक्ति के शरीर में थोड़ी-थोड़ी देर में कंपन होने लगता है और विशेषकर हाथों में. इस बीमारी के कारण Anna कोई भी चीज़ ज़्यादा देर तक हाथ से पकड़ नहीं पाती थीं.

और यही कारण था कि वो अपनी बांसुरी को भी सही तरीके से अधिक समय तक पकड़ नहीं पाती थीं. लेकिन अब उनकी ये स्थिति बदल चुकी है. मेमोरियल हर्मन-टेक्सास मेडिकल सेंटर के डॉक्टर्स ने Anna का एक सफ़ल ऑपरेशन किया. आॅपरेशन थिएटर में एक ओर डॉक्टर व नर्स सर्जरी में व्यस्त थे तो दूसरी ओर आॅपरेशन टेबल पर लेटी एना उन्हें बांसुरी की धुन सुना रही थीं.

डॉक्टर्स के अनुसार, Anna की ये एक्टिविटी दरअसल, ऑपरेशन प्रक्रिया का हिस्सा थी. डॉक्टर्स ने बताया कि Anna के मस्तिष्क को सर्जरी के जरिये उत्तेजना प्रदान करनी थी, जिसके लिए उन्हें जगाए रखना जरूरी था. इसलिए उनके हाथों में बांसुरी दे दी गयी थी. इसके माध्यम से डॉक्टर्स ये भी जांच रहे थे कि उनकी जो सर्जरी की जा रही है, वो सही तरह से काम कर रही है या नहीं. साथ ही Anna ख़ुद भी अपनी क्षमता जांच सकें. इस सर्जरी में Anna को हाथों में आने वाले झटकों से छुटकारा दिलाने के लिए डॉक्टरों ने उनके मस्तिष्क में इलेक्ट्रोड्स को इंस्टाल किया है.

ऑपरेशन के बाद हर बार की तुलना में ये पहला मौक़ा था जब Anna ने OT में सभी डॉक्टर्स के सामने अपनी पसंदीदा धुन को बांसुरी पर हाथों में बिना किसी झटके के बजाया.

गौरतलब है कि इस सर्जरी से पहले, Anna अपने हाथों में मुश्किल से ही किसी चीज़ को संभाल सकती थीं. पर अब वो एक म्युज़िक कंसर्ट में रोक्किंग परफ़ॉरमेंस देने के लिए तैयार हैं.

Source: indiatimes