Happy April Fools Day. उल्लू बनाने के लिए ये दिन बस एक औपचारिकता है. क्योंकि उल्लू बनाने के लिए हम कोई ख़ास दिन या तरीक़ का इंतज़ार थोड़ी न करते हैं! भारतीय मीडिया, घंटों स्मार्टफ़ोन पर चिपके रहने की लत, अंधविश्वास की वजह से हमें, हर कोई Fool बना कर चल देता है. मानते हैं कि नहीं!

अगर नहीं मानते, तो ज़रा इस लिस्ट पर नज़र डालना. ख़ुद को शातिर कहने वाले भी इन मौकों पर बन गए अप्रैल फूल:

1) जब 'भाई' ने कहा 'मुझे लड़की मिल गयी'

क़सम से, फ़ीमेल फैंस का चेहरा देखने वाला था. शुक्र है, भाई अपने फ़िल्म के लिए लड़की मिलने की बात कर रहे थे वरना हक़ से Single वाले सख़्त लौंडे भी पिघल जाते.

2) जब हमें गंभीरता से समझाया गया कि 2000 वाले नए नोट में GPS चिप है

मोहतरमा, सिग्नल सीधा अंतरिक्ष न पहुंच जाएं. अाइला जादू !

3) जब पता चला WWE के मशहूर रेसलर Undertaker असल में 'आनंद दात्रेकर' है

4) सच बताना. ये जो दिवाली पर NASA वाली फ़ोटो आयी थी, तुमने भी फ़ॉरवर्ड करी थी न?

5) और हां ये वाली ख़बर. उल्लू बने तो क्या हुआ, कुछ क्षण के लिए गर्व तो हुआ. है न?

6) क्या हुआ ? Whatsapp अभी तक नीला नहीं हुआ ?

7) इनका क्या कहना. इन्हें तो April Fools Day का ब्रैंड एम्बेसडर होना चाहिए.

Free Wifi, बैंक में 15 लाख रुपये और आलू डाल कर सोना निकलने वाली मशीन. हद है यार !