इश्क़ में हमेशा सब ख़ूबसूरत हो, ऐसा ज़रूरी नहीं है. कई बार जब इश्क़ जुनून की हद पार कर जाए, तो आशिक़ पागल और सनकी भी हो जाते हैं. ऐसे आशिक़ों को हम 'सिरफिरे आशिक़' भी कहते हैं. बॉलीवुड में भी कई फ़िल्मों में ऐसे सनकी और सिरफिरे आशिक़ दिखाए गए हैं.

आज हम आपको बताएंगे बॉलीवुड की ऐसी ही कुछ फ़िल्मों के बारे में, जिनके आशिक़ न सिर्फ़ 'सिरफिरे' बल्कि अव्वल दर्जे के सनकी भी थे.

1. 1997 में आई फ़िल्म 'गुप्त: द हिडेन ट्रुथ' में काजोल

Source: bookmyshow

ज़्यादातर रोमांटिक फ़िल्मों में काम करने वाली काजोल ने एक सस्पेंस थ्रिलर में भी काम किया था. फ़िल्म थी ' गुप्त: द हिडेन ट्रुथ' और काजोल उसमें एक ख़ूनी की भूमिका में थीं. इस फ़िल्म में बॉबी देओल और मनीषा कोइराला भी थे. आमतौर पर मासूम किरदार निभाने वाली काजोल का इस फ़िल्म में डरावना रूप काफ़ी पसंद किया गया था.

2. 1994 में आई फ़िल्म 'अंजाम' में शाहरुख़ ख़ान

Source: financialexpress

'अंजाम' एक थ्रिलर ड्रामा फ़िल्म थी. फ़िल्म में शाहरुख़ एक बिगड़े हुए अमीरज़ादे 'विजय' के किरदार में हैं. इसमें विजय, शिवानी (माधुरी दीक्षित) को इस हद तक चाहता है कि वो उसे पाने के लिए उसके पति की हत्या कर देता है.

3. 1993 में आई फ़िल्म 'डर: अ वॉयलेंट लव स्टोरी' में शाहरुख़

Source: zeenews

शाहरुख़ ख़ान ने अपने शुरुआती दिनों में सनकी आशिक़ की भूमिकाओं वाली कई फ़िल्में की थीं. यश चोपड़ा की फ़िल्म 'डर' में शाहरुख़ के 'साइको लवर' का किरदार काफ़ी पसंद किया गया था. फ़िल्म में राहुल (शाहरुख़ ख़ान) किरन (जूही चावला) को पागलपन की हद तक चाहता है और उसे पाने के लिए वो कई बार हिंसक कदम भी उठाता है.

4. 1996 में आई फ़िल्म 'अग्निसाक्षी' में नाना पाटेकर

Source: youtube

फ़िल्म में नाना पाटेकर मनीषा कोइराला के सनकी पति के किरदार में हैं. वो अपनी पत्नी को बात-बात पर मारता और प्रताड़ित करता है. पत्नी कहीं भी जाए, वो उसका पीछा करता है. पति की इन्हीं सब हरकतों से पत्नी का जीना मुहाल हो जाता है.

5. 1996 में आई फ़िल्म 'दस्तक' में शरद कपूर

'दस्तक' सुष्मिता सेन और शरद कपूर दोनों की ही पहली फ़िल्म थी. फ़िल्म में शरद ने सुष्मिता के सनकी आशिक़ का किरदार निभाया है. शरद फ़िल्म में हर उस शख़्स को मार डालता है, जो सुष्मिता के आस-पास भी फटकता है. वो सुष्मिता को अपना बनाने के लिए उसे किडनैप भी करता है. शरद के इस किरदार की काफ़ी तारीफ़ हुई थी.

6. 1996 में आई फ़िल्म 'दरार' में अरबाज़ ख़ान

Source: bollywoodpapa

अब्बास-मस्तान की फ़िल्म 'दरार' में अरबाज़ ने जूही चावला के सनकी पति का किरदार निभाया था. उन्होंने एक ऐसे पति की भूमिका निभाई, जो अपनी पत्नी को मारता-पीटता भी है और उसे प्यार भी करता है. फ़िल्म में अरबाज़ ने सनकी आशिक़ की भूमिका बख़ूबी निभाई थी.

7. 2000 में आई फ़िल्म 'धड़कन' में सुनील शेट्टी

फ़िल्म में अंजलि (शिल्पा शेट्टी) के प्यार में दीवाना देव (सुनील शेट्टी) धीरे-धीरे सनकी बन जाता है, जो अंजलि को पाने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है. इसके लिए वो अंजलि और उसके पति को परेशान करता है. ये फ़िल्म आज भी सुनील के किरदार के लिए याद की जाती है.

8. 2004 में आई फ़िल्म 'तुम: अ डेंजरस ऑब्सेशन' में करन नाथ

फ़िल्म में करन एक ऐसे आशिक़ बने हैं, जिसका प्यार धीरे-धीरे जुनून बन जाता है. करन शादी-शुदा मनीषा कोइराला से मॉरिशस में मिलते हैं. दोनों एक-दूसरे के करीब आते हैं. लेकिन इसके बाद जब मनीषा अपने घर मुंबई लौटती हैं, तो करन उसका पीछा करते हुए वहां पहुंच जाते हैं.

इश्क़ का एहसास बहुत ख़ूबसूरत होता है. मगर तभी जब दोनों तरफ़ से हो. एकतरफ़ा प्यार कभी-कभी ऐसी सनक का कारण बनता है, जिसमें इंसान को अपना भी होश नहीं रहता और वो हिंसक बन जाता है. इसीलिए तो किसी शायर ने कहा है,

इश्क़ जब दोनों तरफ़ हो तो मज़ा देता है और जब एक तरफ़ हो तो सज़ा देता है.

Source: moviereviewpreview