बॉलीवु़ड फ़िल्में आज दुनिया के कई हिस्सों में अपनी पहचान बना रही हैं. अपनी विविधताओं के लिए मशहूर हिंदी सिनेमा में कई फ़िल्में जहां स्क्रिप्ट और निर्देशन के बलबूते बॉक्स ऑफ़िस पर कमाल करती हैं. वहीं गानों को जीवंत बनाने और ड्रामा को रियलिस्टिक बनाने के लिए भव्य सेट्स का भी सहारा लिया जाता है.

यही कारण है कि कई प्रोड्यूसर्स विशाल और खूबसूरत सेट्स बनाने में खूब पैसा बहाते हैं. संजयलीला भंसाली खासतौर से अपने आलीशान सेट्स के लिए जाने जाते हैं. ये हैं बॉलीवुड की वो 8 फिल्में जिनके अद्भुत सेट्स ने न केवल लोगों के बीच वाहवाही लूटी, बल्कि अपनी भव्यता और खूबसूरती की वजह से ये फ़िल्म को भी एक अलग फ़ील देने में कामयाब रहे.

1. बाहुबली

S.S राजामौली की बाहुबली का जादू अभी दर्शकों के ज़हन से उतरा नहीं है. ये तो सबको पता है कि इस फ़िल्म में VFX का शानदार इस्तेमाल हुआ है. लेकिन इसके सेट को बनाने के लिए की गई मेहनत और ख़र्च को नकारा नहीं जा सकता. जैसे, फ़िल्म में 125 फ़ीट ऊंची भल्लालदेव की प्रतिमा को 200 कारीगरों ने मिलकर बनाया था. इसका वज़न 8,000 किलो है और इसे खड़ा करने में 4 क्रेन्स का इस्तेमाल करना पड़ा था.

2. बॉम्बे वेलवेट

ये फिल्म भले ही फ़्लॉप हो गई थी, लेकिन इसके सेट की सबने तारीफ़ की थी. कोलंबो में 9.5 एकड़ ज़मीन पर पुरानी मुंबई को दिखाने की कोशिश की गई थी. इसके सेट को बनने में 11 महीने का समय लगा था.

3. जोधा अकबर

अपने विशाल सेट्स की बदौलत ही ये फ़िल्म हमें मुगलों को दौर में ले जाने में कामयाब रही थी. इसके सेट पर लगभग 10 मिलियन डॉलर का खर्च आया था.

4. प्रेम रतन धन पायो

इस फ़िल्म में जो महल दिखाया गया था, उसका सेट 100,000 स्क्वायर फ़ीट में बनाया गया था.

5. सांवरिया

संजय लीला भंसाली की 'सांवरिया' भले ही फ़्लॉप रही हो, लेकिन अपने सेट से ये जो Poetic और रोमांटिक माहौल बनाती है. उसके लिए इसे एक बार ज़रूर देखा जाना चाहिए.

6. देवदास

ये फ़िल्म देखने के बाद मुझे तो ऐसा ही लगा था कि काश इस फ़िल्म के सेट को थोड़ा छोटा बनाया जाता, तो शायद पारो, देवदास के मरने से पहले पहुंच जाती. मानो या न मानो, फ़िल्म को इतना इमोशनल बनाने में इसके सेट का भी योगदान था. चंद्रमुखी के कोठे को बनारस जैसा दिखाने के लिए एक आर्टिफिशियल तालाब के बगल में बनाया गया था.

7. कभी खुशी कभी गम

इस फ़िल्म के लिए दिल्ली का पूरा चांदनी चौक ही मुंबई के स्टूडियो में उतार दिया गया था. शरमिष्ठा रॉय ने इस फ़िल्म के लिए करीब 18-19 सेट बनाए थे, जिसके लिए उन्हें बेस्ट आर्ट डायरेक्शन का फ़िल्मफ़ेयर अवार्ड भी मिला था.

8. बाजीराव मस्तानी

इस फ़िल्म की सफ़लता का बड़ा श्रेय इसके भव्य सेट को ही जाता है. रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण की केमिस्ट्री के अलावा संजय लीला भंसाली ने इस फ़िल्म के आलीशान सेट्स पर भी खूब पैसा बहाया था.

ज़ाहिर है, अगर इन फ़िल्मों के सेट्स इतने खूबसूरत और बेहतरीन न होते तो इन फ़िल्मों के सिनेमाई अनुभव से हम वंचित ही रह जाते.

Article Source : Deccanchronicle