पुलिस का नाम सुनते ही हर किसी के दिल और दिमाग़ में एक भ्रष्ट पुलिसवाले की छवि बन जाती है. जी हां, अधिकतर लोग पुलिस को इसी रूप में पहचानते हैं. लेकिन उनके साहस और काम की तारीफ़ कोई नहीं करता. दिन हो या रात, त्यौहार हो या घर का कोई ज़रूरी काम, पुलिसवाले 24 घंटे लोगों की मदद के लिए तैयार रहते हैं. बावजूद इसके लोगों के दिमाग़ में पुलिस की छवि भ्रष्ट और पैसे लेने वाले की बनी हुयी है.

मगर ये बात भी सच है कि मुश्किल वक़्त में पुलिस ही हमारी मदद करती है.

ऐसी ही एक ख़बर आयी है पुणे से, जय जेठवा नाम के एक ट्विटर यूज़र ने 10 मार्च को एक ट्ववीट कर मदद के लिए पुणे पुलिस का शुक्रिया अदा किया है. जय ने बताया कि लातूर से एक मरीज़ को पुणे एयरपोर्ट से रूबी हॉल क्लीनिक ले जाने को लेकर मैंने ट्वीट कर पुणे पुलिस से रोड क्लीयर करने के लिए मदद मांगी थी. जय जेठवा के ट्वीट पर पुणे पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते हुए अपने ट्विटर हैंडल से Ok Noted. का रिप्लाई किया.

इसके बाद जय जेठवा ने एक और ट्वीट में एम्बुलेंस का नंबर, एयरपोर्ट से रूबी हॉल क्लीनिक जाने का समय और मरीज़ के परिजनों का नंबर भी दिया. इस पर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए काम किया और मरीज़ को समय से हॉस्पिटल पहुंचाने में मदद की.

पुणे पुलिस ने बताया कि एम्बुलेंस एयरपोर्ट से 8 किमी दूर रूबी हॉल क्लीनिक मात्र 9 मिनट में पहुंच गयी. 

इसके बाद जय ने मरीज़ के सुरक्षित और समय से हॉस्पिटल पहुंचने पर ट्रैफ़िक पुलिस का शुक्रिया अदा किया और मरीज़ की सलामती को लेकर जय ने कई और ट्वीट भी किये.

पुणे पुलिस के ट्विटर हैंडल से भी रिप्लाई आया जिसमें उन्होंने कहा कि 'जब किसी को मदद की ज़रूरत थी और हम समय पर उसकी मदद कर पाए इसके लिए हम बेहद खुश हैं. पुणे शहर पुलिस हमेशा आपकी सेवा के लिए तत्पर है.

सोशल मीडिया के इस दौर में क्या युवा, क्या पुलिस हर कोई हाईटेक हो चुका है. इंटरनेट और सोशल मीडिया के कारण अगर किसी की जान बच सकती है तो इससे बेहतर और क्या हो सकता है.

इस पूरे घटनाक्रम ने बॉलीवुड फ़िल्म ट्रैफ़िक की याद ताज़ा कर दी.