नब्बे के दशक में पैदा हुए बच्चों के लिए मनोरंजन के साधन बेहद कम हुआ करते थे. बावजूद इसके उस दौर में हम बेहद ख़ुश रहा करते थे. नब्बे के शुरुआत में अधिकतर घरों में दूरदर्शन ही देखा जाता था. उस समय मनोरंजन के साधन कम होने के चलते हमें दूरदर्शन पर दिखाये जाने वाले हर कार्यक्रम को मज़बूरन देखना पड़ता था. इसलिए भी वो सीरियल्स हमें आज भी याद हैं. लेकिन हम बच्चों के लिए तो हमारा अपना शक्तिमान ही काफ़ी था. शक्तिमान के लिए सुबह से ही इंतज़ार में बैठ जाया करते थे. जबकि रामायण, महाभारत, चित्रहार, चंद्रकांता, कैप्टन व्योम जैसे कई चर्चित धारावाहिक भी हम बड़े चाव से देखा करते थे.

आईये आपको आपके बचपन की उन यादों से एक बार फिर परिचय कराते हैं-

1. शक्तिमान

Source: dnaindia

नब्बे के दशक का शायद ही कोई ऐसा बच्चा रहा होगा जिसने शक्तिमान नहीं देखा होगा. हर रविवार दोपहर 12 बजे का हमें बेसब्री से इंतज़ार रहता था. पूरे एक हफ़्ते के इंतज़ार के बाद शक्तिमान देखने के लिए हम सुबह से ही घर में शान्ति से बैठते थे ताकि शक्तिमान देखने को मिले. दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाला शक्तिमान उस ज़माने में बच्चों का सबसे चहिता धारावाहिक हुआ करता था. शक्तिमान भारतीय टेलीविज़न इतिहास का पहला सुपर हीरो था, यही कारण है कि शक्तिमान आज भी हमारे लिए अनफ़ॉरगेटेबल सुपरहीरो है. उस वक़्त शक्तिमान, गीता विस्वास, तमराज किल्विष, महागुरु और डॉक्टर जैकाल जैसे किरदार हर वक़्त हमारी जुबां पर होते थे.

2. रंगोली

दूरदर्शन के दौर में हमारे पास मनपसंद गानों के लिए रंगोली से बेहतर कोई शो नहीं था. उस दौर में ये शो इस तरह का एकमात्र शो हुआ करता था. इसलिए भी गीत-संगीत के शौक़ीन लोग रंगोली देखना शायद ही कभी मिस करते होंगे. इस प्रोग्राम को शुरुआत में हेमा मालिनी और शर्मीला टैगोर जैसी अभिनेत्रियों ने होस्ट किया. बाद में प्राची शाह, श्वेता तिवारी, स्वरा भास्कर, नीतू चंद्र और डोनल बिष्ट ने होस्ट किया.

3. हम पांच

Source: indiatoday

ज़ी टीवी पर प्रसारित होने वाला 'हम पांच' उस दौर का बेस्ट कॉमेडी शो हुआ करता था. आनंद माथुर और उसकी पांच बेटियों की नोंक-झोंक लोगों को बेहद पसंद आती थी. बालाजी टेलीफ़िल्म्स का ये सीरियल पहली बार साल 1995 में शुरू हुआ था. साल 1999 तक लोगों इसने लोगों का भरपूर मनोरंजन किया. जबकि इसका दूसरा सीज़न साल 2005 से 2006 तक ही चला.

4. देख भाई देख

Source:

इस सीरियल को भला कोई कैसे भूल सकता है. ये सीरियल 6 मई, 1993 को पहली बार दूरदर्शन पर प्रसारित हुआ था, जबकि 1994 में बंद हो गया था. लेकिन उस दौर में इस शो को देखने वालों की भी कोई कमी नहीं थी. मात्र एक साल में ही इस शो ने लोगों का भरपूर मनोरंजन किया. मशहूर टीवी और फ़िल्म कलाकार शेखर सुमन और देवेन भोजानी की शानदार कॉमेडी आज भी हमें याद हैं.

5. श्रीमानजी-श्रीमतीजी

Source: inuth

दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाला ये शो भी एक कॉमेडी शो था. जिसने लगातार 6 साल तक लोगों का भरपूर मनोरंजन किया. प्रेमा शालिनी (अर्चना पूरनसिंह) और उनके पति दिलरुबा (राकेश बेदी) के बीच की नोंक-झोंक लोगों को हंसाती थी. अर्चना पूरनसिंह इस शो के बाद फ़ेमस हो गयी थीं.

6. अंताक्षरी

Source: hindustantimes

अंताक्षरी का नाम सुनते ही हम बड़े उत्साहित हो जाते थे. अनु कपूर, राजेश्वरी सचदेव और पल्लवी जोशी की शानदार होस्टिंग आज भी हमें याद है. सुरीले और मधुर गीतों के ये अंताक्षरी समय के साथ बदलती रही. बाद में इसके कई अन्य सीजन आये जिसने इस देश को कई बड़े सिंगर दिए. ज़ी टीवी पर दिखाए जाने वाला ये शो साल 1994 में शुरू हुआ था और साल 2005 तक लगातार लोगों का मनोरंजन करता रहा.

7. हिप हिप हुर्रे

Source: indiatoday

ज़ी टीवी पर दिखाया जाने वाला ये शो 21 अगस्त 1998 से 25 May 2001 चला. इन तीन सालों में ये सीरियल युवाओं का पसंदीदा सीरियल बन गया. इस सीरियल में 12वीं क्लास में पढ़ने वाले कुछ बच्चों की ज़िंदगी दिखाई गयी है. हिप हिप हुर्रे के मोना, बेला राघव, मीरा और साइरस जैसे किरदार को हर स्कूल जाने वाला टीन अपने बेहद करीब पता था.

8. अलिफ़ लैला

Source: indianexpress

ये शो भी उस दौर में बेहद पॉपुलर हुआ करता था. रहश्य और रोमांच से भरा ये सीरियल हर एपिसोड में एक नयी कहानी की साथ पेश होता था. उस हरे रंग के ज़िन को भला कैसे भूल सकते हैं.

9. चंद्रकांता

Source: hindi

चंद्रकांता नब्बे दशक का एक और बेहद चर्चित सीरियल हुआ करता था. भले ही हम क्रूर सिंह की डरावनी शकल से डर जाया करते थे. लेकिन देखना बिलकुल भी मिस नहीं करते थे. क्रूरसिंह का वो डायलॉग तो याद ही होगा यक्कू...

10. शाका लाका बूम बूम

Source: indiatoday

शाका लाका बूम बूम बच्चों के बीच बेहद पॉपुलर सीरियल था. ये सीरियल पहली बार 30 ऐपिसोड के साथ दूरदर्शन पर प्रसारित किया गया था. उसके बाद 15 अक्टूबर, 2000 को ये सीरियल स्टार प्लस पर प्रसारित हुआ था. संजू का किरदार और उसकी वो जादुई पेंसिल आज भी हमें याद है. संजू की जादुई पेंसिल उस समय बच्चों के बीच बेहद पॉपलर हो गयी थी. जबकि इसका आख़िरी ऐपिसोड 10 अक्टूबर 2004 को प्रसारित किया गया था.

11. सोन परी

Source: s4

23 नवम्बर 2000 से 1 अक्टूबर 2004 तक स्टार प्लस पर प्रसारित होने वाला ये शो नए दौर का बेहद पॉपुलर सीरियल था. ये सीरियल उस दौर के बच्चों यानि कि आज के युवाओं के दिल के बेहद क़रीब है. सोन परी का फ़्रूटी के लिए बेपनाह प्यार और फ़्रूटी का सोनपरी की जादुई दुनिया से प्यार बच्चों को बेहद पंसद आता था.

12. ऑफ़िस ऑफ़िस

Source: merinews

टीवी का ये मशहूर शो अपनी शानदार प्रस्तुति के लिए आज भी जाना जाता है. सरकारी विभागों में होने वाली रिश्वतख़ोरी पर तंज़ कसता ये सीरियल और इसका हर एक किरदार लोगों को खूब हंसाया करते थे. मुसद्दीलाल, उषा जी, शुक्ला, पटेल, पांडे जी, भाटिया और टीना हर किरदार अपने आप में शानदार था. क्या बच्चे और क्या बुज़ुर्ग उस दौर में हर कोई इस शो का दीवाना हुआ करता था.

आप भी हमारे साथ अपने बचपन की उन ख़ूबसूरत यादों को शेयर कीजिये