कहते हैं कि मौत से चंद कदम दूर खड़े इंसान की आख़िरी ख़्वाहिश को पूरा कर देना चाहिए. लेकिन क्या हो अगर कोई शख़्स अपनी आख़िरी ख़्वाहिश के तौर पर अपनी प्रेमिका से शादी करना चाहता हो?

45 साल की ट्रेसी ब्रुक्स और 63 साल के रे केर्शा काफ़ी समय तक डेटिंग करने के बाद एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे, लेकिन पिछले मार्च में रे को कैंसर होने के बाद ये आइडिया ड्रॉप कर दिया गया.

दरअसल, रे को टर्मिनल कैंसर था और उनके पास जीने के लिए महज कुछ ही दिन बचे थे. पिछले साल मार्च में उन्हें इस घातक बीमारी के बारे में पता चला था. लेकिन रे, मरने से पहले अपनी गर्लफ़्रेंड ट्रेसी के साथ शादी रचाना चाहते थे.

रे की बिगड़ती हालत को देखते हुए इस शादी को 2 जून की जगह 20 मई को शिफ़्ट कर दिया गया था. इस मामले में गिफ़्ट ऑफ़ ए वेडिंग नाम की संस्था ने शानदार पहल दिखाते हुए इस कपल की मदद करने का फ़ैसला किया और उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर लोगों के सामने ट्रेसी और रे के लिए मदद की गुहार लगाई.

इस अपील के कुछ घंटों के अंदर ही कई लोग रे और ट्रेसी की मदद के लिए आगे आए. इन लोगों में कुछ बिज़नेसमैन भी शामिल थे. लोगों ने फ़ूल, कार, वेन्यू ड्रेस और केक जैसी ही शादी की कई ज़रुरी चीज़ों के लिए मदद की पेशकश की.

ये संस्था लोगों से इस प्रकार की प्रतिक्रिया से काफ़ी खुश थे. फ़ेसबुक पर गिफ़्ट ऑफ़ ए वेडिंग ने लिखा कि हम उन लोगों के शुक्रगुज़ार हैं, जिन्होंने हमारे पोस्ट को शेयर किया. इसके अलावा हम उन लोगों के भी बेहद शुक्रगुज़ार हैं, जिन्होंने इस खास अवसर के लिए डोनेट करने का फ़ैसला किया.

रे और ट्रेसी की इस शादी में केवल करीबी रिश्तेदार, कुछ दोस्त और नर्सिंग स्टाफ़ मौजूद थे. ट्रेसी और रे को विश्वास ही नहीं हो रहा था कि लोगों ने इतने शॉर्ट नोटिस पर इतना सारा पैसा डोनेट कर दिया. उनकी शादी के इंतज़ाम को महज 24 घंटों में निपटा लिया गया.

ट्रेसी की रिश्तेदार मेलिसा किंग ने कहा कि रे के पास कुछ ही दिन बचे थे. ऐसे में रे और ट्रेसी दोनों ही चाहते थे कि जल्द से जल्द शादी कर ली जाए. मेलिसा ने बताया कि गिफ़्ट ऑफ़ ए वेडिंग और अस्पताल के स्टाफ़ ने जो किया, वह बेहद खास था. ये लोग सारी रात जाग कर इस शादी के समारोह को सफ़ल बनाने के लिए प्रयास करते रहे.

Source: Metro