बचपन का वो किस्सा तो आपको याद ही होगा, जब डिक्टेशन के नाम पर आपसे बड़े-बड़े शहरों की स्पेलिंग पूछी जाती थी. उस समय हम अकसर सोचा करते थे कि भाई साहब ये गोवा की स्पेलिंग क्यों नहीं पूछते!

ख़ैर अब वो ज़माना गया, पर यदि आज भी कोई डिक्टेशन की क्लास ले ले, तो अब भी सिट्टी-पिट्टी गुम हो जाएगी. ऐसे लोगों के सवालों से बचने के लिए आज हम आपके लिए एक ऐसे कस्बे का नाम लेकर आये हैं, जो एक अक्षर से शुरू होकर उसी पर ख़त्म हो जाता है.

आप भी चौंक गए न! पर सच में एक ऐसी जगह भी है, जिसका पूरा नाम ही एक अक्षर में ख़त्म हो जाता है.

Source: wiki

नॉर्वे और स्वीडन से लगे एक आईलैंड के पास 'A' नाम का एक छोटा-सा गांव है, जिसकी गिनती दुनिया के सबसे छोटे नाम वाले कस्बे या गांव के रूप में होती है. ये गांव नॉर्वे के Troms शहर के Lavangen म्युनिसिपेलिटी का हिस्सा है, जिसे पहले 'Å' के रूप में पहचाना जाता था.

Source: ekonomiaonline

स्थानीय भाषा में A का मतलब एक नदी से है, जो इस गांव की पहचान भी है. इसके नाम की वजह से दुनिया भर से लोग इस गांव को देखने आते हैं, जिसकी वजह से ये एक आकर्षण के केंद्र के रूप में बदल गया है. इस छोटे से गांव की आबादी भी कम है, कुल संख्या 150 के करीब है.

इस गांव का नाम उस समय सुर्ख़ियों में आया, जब 2004 में एक ब्रिटिश लेखक साइकिल से गांव A से ले कर Bee नाम के एक कस्बे में पहुंचे. Bee अमेरिका के Nebraska का एक छोटा-सा गांव है. उस समय के अख़बारों में ख़बर छपी थी कि 'एक ब्रिटिश राइटर ने तीन महीनों में किया A से B तक का सफ़र'. शुरुआत में लोगों ने इस ख़बर को मज़ाक समझा, पर जब इसकी सच्चाई सामने आई, तो सारी दुनिया हैरान हो गई.

ये था दोस्त A से Bee तक का किस्सा. यदि आप भी किसी ऐसे शहर या जगह के बारे में जानते हों, तो शेयर करना न भूलें.