इतिहास में जिन लोगों को मानव सभ्यता के लिए ख़तरा माना जाता है. उनमें से एक नाम अडोल्फ़ हिटलर का भी है, जिसने दूसरे विश्वयुद्ध के समय हज़ारों यहूदियों को मौत की नींद सुला दिया था. दूसरे विश्वयुद्ध के इतने सालों भी लोग हिटलर को नहीं भुला पाए हैं. हाल ही में दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान हिटलर द्वारा इस्तेमाल किये गए फ़ोन को बेचने के लिए दुनिया के सामने रखा गया, जिसकी बोली करीब 243,000 डॉलर लगाई गई.

Source: b'Source: Reuters'

बैकेलाइट के बने इस फ़ोन को 1945 में एक नाज़ी के बंकर में पाया गया था. इस फ़ोन पर हिटलर के नाम के साथ ही स्वस्तिक का निशान भी खुदा हुआ है. Alexander Historical Auctions ने इस फ़ोन की नीलामी की ज़िम्मा संभाला था. उनके अनुमान के अनुसार, इस फ़ोन की बोली 200,000 से ले कर 300,000 डॉलर तक जाने की उम्मीद थी. 

Source: b'Source: AFP'

नीलामी की बोली 100,000 डॉलर से शुरू हुई थी. हालांकि इस फ़ोन को खरीदने वाले की पहचान उजागर नहीं गई है. Alexander House ने इस फ़ोन को दुनिया का सबसे ख़तरनाक हथियार बताया है, क्योंकि इसी फ़ोन का इस्तेमाल करके हिटलर अपने सिपाहियों को निर्देश दिया करता था.

Source: b'Source: AFP'

द्वितीय विश्वयुद्ध में जर्मनी के सरेंडर के बाद, रुसी सैनिकों ने यह फ़ोन ब्रिटिश ब्रिगेडियर राल्फ़ रेनर को निशानी के तौर पर दिया था.

Source: b'Source: AFP'