इसे डॉक्टरों की मेहनत कहिये या ईश्वर का कोई चमत्कार आगरा में एक 38 वर्षीय महिला का 18 बार गर्भपात होने के बावजूद वो 20 साल बाद मां बनी है. मां और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं, इस वजह से पति-पत्नी दोनों ख़ुश हैं.

ख़बरों के अनुसार, आगरा के हाथीगढ़ी गांव की रहने वाली रजनी एक दुर्लभ तरह की बीमारी से पीड़ित थी, जिसमें प्रसव के दौरान ही उनका गर्भपात हो जाता था. इस बाबत रजनी के पति प्रेम कुमार कई अस्पतालों के चक्कर लगा चुके थे, पर हर जगह उनके हाथ निराशा ही लगी. आखिर में प्रेम एक प्राइवेट हॉस्पिटल पहुंचे, जहां उनकी मुलाकात लैप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. अमित टंडन और IVF स्पेशलिस्ट डॉ. वैशाली से हुई.

Source: 13abc

रजनी के केस की जांच करने के बाद डॉक्टरों को पता चला कि उसका गर्भाशय काफ़ी कमजोर है, जिसकी वजह से उसका गर्भपात 5-6 महीने में ही हो जाता है.

गर्भाशय को मजबूत करने के लिए डॉक्टरों ने उस पर टांके लगाए. ये टांके 3 महीने की प्रेगनेंसी के बाद लगाए गए. इसी का नतीजा है कि आज रजनी और प्रेम एक बच्चे के माता-पिता बन पाए हैं.

Source: TOI