"ए काश कभी ऐसा होता कि दो दिल होते सीने में!"

कुमार शानू का ये दर्दभरा नगमा आज एक शख़्स की त्रासदी भरी हकीकत बन गया है. केरल के 45 साल के एक व्यक्ति के सीने में दो दिल धड़क रहे हैं. ये व्यक्ति देश का अकेला ऐसा इंसान है, जिसके सीने में दो धड़कते दिल हैं. खास बात यह है कि इन दो दिलों में एक दिल महिला का भी है. डॉक्टरों के मुताबिक ये मरीज़ एक संतुलित व्यक्ति होगा और जेनेटिक तौर पर आकर्षक साबित होगा, क्योंकि मरीज में अब महिलाओं वाले Y क्रोमसोम भी होंगे.

इस व्यक्ति का हार्ट डेड पड़ गया था जिसकी वजह से इनका एक बेहद दुर्लभ हार्ट ट्रांसप्लांट किया गया था. इस ट्रांसप्लांट में पुराने दिल को नए की जगह बदला नहीं जाता है, बल्कि दोनों दिलों को जोड़ दिया जाता है ताकि दोनों ही दिल प्रेशर झेल सकें.

कोवई मेडिकल सेंटर एंड हॉस्पिटल के कॉर्डियोथोरसिस(KMCH) अस्पताल के सर्जन यह जानते थे कि मरीज़ का हार्ट ट्रांसप्लांट करना पड़ेगा, क्योंकि ये दिल सिर्फ़ 10 पर्सेंट काम कर रहा था. सर्जन डॉ. प्रशांत वैद्यनाथ ने कहा कि 'इस शख़्स की जांच में हमने पाया कि उसके फेफड़ों पर बहुत दबाव पड़ रहा था. ऐसी परिस्थिति में नया दिल अक्सर फ़ेल हो जाता है, क्योंकि वह दबाव नहीं झेल पाता'.

ऐसे मामलों में कई विकल्पों का इस्तेमाल किया जाता है. मसलन, दिल और फेफड़ों का ट्रांसप्लांट, सीने में दोनों तरफ कृत्रिम दिलों का इस्तेमाल या फ़िर नए दिल के साथ ही पुराने दिल को फ़िट कर देना. गौरतलब है कि सीने में दो कृत्रिम दिलों को लगाने का प्रोसेस बेहद महंगा होता है.

डॉक्टर के मुताबिक, 'सोमवार को अस्पताल में एक ब्रेन डेड महिला आई थी. जांच में पता चला कि इस महिला का दिल इस शख़्स के साथ मैच कर रहा था, लिहाज़ा हमने तीसरे विकल्प पर विचार करते हुए मरीज के दिल का ट्रांसप्लांट किया'.

ये चुनौतीपूर्ण सर्जरी तीन घंटों तक चली. सर्जरी में डॉक्टरों ने पहले मरीज़ के सीने से कैविटी को हटाया और नए दिल के लिए जगह तैयार की. नया दिल लगाने के बाद दोनों की धड़कनों में तालमेल बैठाने का काम किया गया, जिसके लिए पेसमेकर का सहारा लिया गया. दोनों दिलों को पांच जगहों से कनेक्ट किया गया था. ये पूरी सर्जरी मूल हृदय की धड़कनों को रोके बिना की गई थी.

Source: TOI