उस ज़माने में जब टीवी बहुत कम लोगों के घरों की शोभा था, जब टीवी और फ़ोन का आगमन भी शायद इंडिया में नहीं हुआ था, तब हिंदी गानों के प्रेमियों की प्सास एक ही प्रोग्राम से बुझती थी, बिनाका गीतमाला से. रेडियो सिलोन पर जब अमीन सयानी 'बहनों और भाईयो…' कह कर अपने इस प्रोग्राम की शुरुआत करते थे, तब हर गली, हर घर, हर नुक्कड़ पर लोगों की भीड़ इसे सुनने के लिए रेडियो की तरफ़ खिंची चली आती थी.

रेडियो के इतिहास में दुनिया के सबसे ज़्यादा लंबे चलने वाले प्रोग्राम गीतमाला को होस्ट करते थे अमीन सयानी. वही अमीन सयानी, जिनकी आवाज़ की महिलाएं आज भी दीवानी हैं. उनकी मखमली आवाज़ का जादू ऐसा था कि उस ज़माने में लड़कियां उनसे मिलने रेडियो सिलोन के दफ़्तर तक पहुंच जाती थीं. कईओं ने तो उन्हें प्रपोज़ भी कर दिया था.

Source: Hamara Photos

अमीन सयानी ने बिनाका गीतमाला के ज़रिये कई वर्षों तक देश और विदेश में रहने वाले हिंदुस्तानियों के दिलों पर राज किया था. चलिए एक बार फिर से आपको उन सुनहरों पलों में लिए चलते हैं. वो भी उन्हीं की आवाज़ में और गीतमाला के नए रूप के साथ.

Source: livemint.com

जी हां, सही सुना आपने! दरअसल, सारेगामापा ने अपने यूट्यूब चैनल पर अमीन सयानी के साथ मिलकर एक नए प्रोगाम, 'गीतमाला की छांव में' की शुरुआत की थी. इस प्रोगाम में अमीन सयानी ने पुराने सुपहिट गानों को उस दौर के एक्टर्स के इंटरव्यू के साथ पेश किया था.

Source: Saregama Music

यूट्यूब पर भी अमीन सयानी के इस प्रोग्राम को लोगों ख़ूब पसंद किय. इनमें से एक एपिसोड को हम आपके साथ यहां शेयर कर रहे हैं. बाकी के पार्ट्स को आप सारेगामापा के यूट्यूब चैनल पर सर्च कर सकते हैं. तो चाय का कप हाथ में लीजिए, बिस्तर पर आराम से बैठिए और सुनिए उस आवाज़ को जिसने एक पूरी जनरेशन को गानों से प्यार करना सिखाया दिया.

Source: Saregama Music