अमेरिका के कैसांस शहर ने देशभक्ति की एक नई मिसाल कायम की है. कैसांस में एक एनजीओ ने अपने देश के जांबाजों की ज़िंदगियां बेहतर करने के लिए कुछ गंभीर कदम उठाएं हैं.

वेटेरंस कम्युनिटी प्रोजेक्ट (VCP) नाम के इस एनजीओ ने सैनिकों के लिए एक गांव का निर्माण किया है. इस गांव में सेवानिवृत्त बेघर सिपाहियों के लिए 50 घर बनाए गए हैं. खास बात ये है कि इन घरों में ये सैनिक मुफ़्त में रह सकते हैं.

यहां रहने वाले सैनिकों को खाना और ज़रूरी निजी सामान भी मुहैया कराया जाएगा. गांव के पास में ही एक कम्युनिटी सेंटर का भी निर्माण चल रहा है जहां युद्ध की यातनाओं से मानसिक संतुलन खोने और ट्रॉमा से निपटने वाले लोगों के लिए क्लासेस और काउंसलिंग का इंतजाम किया गया है.

'सेवानिवृत सैनिकों को अनुभवी लोगों की मदद' : VCP प्रोजेक्ट अपने आपको कुछ इस तरह से बयां करता है. इसके अलावा भी VCP ने सैनिकों से जुड़े कई प्रोजेक्ट्स का नेतृत्व किया है.

अमेरिका के लिए ये नया नहीं है लेकिन सैनिकों के लिए छोटे, किफ़ायती और इकोफ्रेंडली घरों का निर्माण लोगों के लिए एक दिलचस्प प्रोजेक्ट के रूप में सामने आया है.

हर घर का आकार लगभग एक स्टूडियो अपार्टमेंट जितना होगा. इस घर में एक बाथरूम और किचन की भी सुविधा होगी.

बेहतर पर्यावरण और सोशलाइज़ से ये सैनिक सहज तरीके से ज़िंदगी बिता सकते हैं.

इन घरों को बनाते वक्त कंफ़र्ट का ख़ास ख्याल रखा गया है ताकि इन लोगों को अपने खुद के घर की कमी न महसूस हो.

हर घर की कीमत लगभग 10,000 डॉलर है. घरों को किफ़ायती और इको फ्रेंडली बनाने की कोशिश की गई है.

गौरतलब है कि इससे पहले 2013 में भी वॉशिंगटन के ओलंपिया में कई बेघर कम्युनिटी सदस्यों के लिए भी ऐसे ही गांवों का निर्माण किया गया था.

Source: BoredPanda