पिछले कुछ सालों में बाबा रामदेव, पीएम मोदी से लेकर बॉलीवुड सितारों और कई सेलेब्रिटी खिलाड़ियों ने योग और प्राणायाम को जितनी पब्लिसिटी दी है, उतनी इस विधा को शायद ही पहले कभी मिली हो. शायद यही कारण है कि योग ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है.

लेकिन भारत में योग और प्राणायाम को ब्रांड में तब्दील कर देने वाले बाबा रामदेव ने भी नहीं सोचा होगा कि विदेशों में योग का कलेवर और अंदाज पूरी तरह से हट के हो जाएगा. योग दरअसल आध्यात्म्कि नज़रिए और मन की शांति के लिए काफी कारगर साबित होता है, लेकिन अमेरिका में योग के साथ एक ऐसा प्रयोग किया जा रहा है जिसके बारे में इससे पहले नहीं सुना गया.

Many of you know I have a book coming out next April about Ganja Yoga (!), but in the mean time, I also wrote a chapter for the new book "Cannabis and Spirituality: An Explorer’s Guide to an Ancient Plant Spirit Ally." Myself and 17 influential voices of the modern cannabis movement reveal the potential of “the people’s plant” to enhance a wide range of spiritual practices, including yoga. Cannabis is an effective ally on the awakening journey, unlocking the receptive energy in us all, as I know you know! 😊😊👌 Please consider purchasing this book for yourself or a loved one. (Makes a great gift!). I personally can't wait to sink my teeth in, and I feel so honored to be amongst the likes of cannabis activists and educators such as Stephen Gray, Chris Bennett, Joan Bello, and Steven Hager! #cannabisspirituality #cannabisconsciousness #ganjalove #deedussaultsganjayoga

A photo posted by Dee Dussault (@ganjayoga) on

अमेरिका के सैन फ्रैंसिस्को में होने वाली इस योगा क्लास में गांजे के सेवन के साथ ही योगा और प्राणायाम किया जाता है. हाल ही में अमेरिका के इस शहर में मेडिकल इस्तेमाल के लिए गांजे के प्रयोग को वैध किया गया है.

गांजे और योगा का ये कॉकटेल दरअसल लोगों को अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने और आध्यात्मिक ऊर्जाओं को गहराई से महसूस करने के लिए तैयार किया गया है

इस योगा क्लास को डी डुसौल्ट चलाते हैं. वे पिछले 22 सालों से लोगो को योगा सिखा रहे हैं. डी का दावा है कि वे पहले ऐसे योगा प्रशिक्षक हैं, जो भारत के बाहर विदेशों में भी लोगों को गांजा योगा की अहमियत समझा रहे हैं.

Move often. Move well. If you don't know how, find a teacher that does. #biomechanics #alignment

A photo posted by Dee Dussault (@ganjayoga) on

इस क्लास के एक सेशन की फीस 25 डॉलर है और यहां आकर आप बिस्किट द्वारा गांजे का सेवन कर सकते हैं, या चाहें तो पारंपरिक तरीके से गांजे को फूंक भी सकते हैं. डी के अनुसार, गांजा योग से अपने मन की गहराईयों को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं, इनमें वो लोग भी शामिल हैं जो डिप्रेशन से गुज़र रहे थे.

इस क्लास में एक बार में केवल 25 लोग ही हिस्सा ले सकते हैं. क्लास की शुरुआत में लोगों को एक अर्ध गोलाकार में बैठना होता है और अपने हिस्से के गांजे का सेवन करना होता है.पहले आधे घंटे में इस क्लास में शामिल होने वाले लोग अपने आपको आस-पास के माहौल के साथ अपने आपको कंफर्टेबल करते हैं और फिर ये सेशन शुरु हो जाता है.

गौरतलब है कि न केवल इसके उपयोग से क्रिएटिविटी बढ़ती है, दिमाग में शांति महसूस होती है और शारीरिक दर्द में कमी आती है बल्कि कई नियमित योगा करने वाले लोग गांजा योग को लेकर अपनी सकारात्मक राय दे चुके हैं. कई लोगों का मानना है कि इस योगा को करने के बाद वे अपने अंतरात्मा के साथ बेहतर तरीके से जुड़ाव महसूस कर पाएं हैं.

Source: Metro