ऑस्ट्रेलियाई सांसद लारिसा वॉटर्स संसद में स्तनपान कराने वाली पहली राजनेता बन गई हैं. ऑस्ट्रेलियाई पार्लियामेंट में एक मतदान के दौरान वॉटर्स ने अपनी 14 सप्ताह की बेटी को स्तनपान कराया. इस बच्ची का नाम आलिया जॉय है. क्वींसलैंड शहर की सीनेटर लारिसा वॉटर्स ऑस्ट्रेलियाई ग्रीन पार्टी की सह-उपाध्यक्ष भी हैं.

वॉटर्स संसद में मैटर्निटी लीव के बाद लौटी थीं. संसद में कार्यवाही के दौरान जब आलिया को भूख लगी, तो वॉटर्स ने उन्हें स्तनपान कराया. वॉटर्स ने कहा ”मुझे इस बात का गर्व है कि मेरी बेटी आलिया संघीय संसद यानि फ़ेडेरल पार्लियामेंट में स्तनपान करने वाली पहली बच्ची बनी है. हमें संसद में और महिलाओं की ज़रूरत है.”

ऑस्ट्रेलियाई संसद ने पिछले साल ही महिला सांसदों को चेंबर में स्तनपान कराने की परमिशन दी थी. इससे पहले चेंबर में बच्चों को लाने पर पाबंदी थी. महिला सांसदों को एक प्रॉक्सी वोट दिया जाता था और वे बाहर जाकर अपने बच्चों को स्तनपान करा सकती थीं. इस नियम को बदलवाने में वाटर्स की अहम भूमिका रही है.

गौरतलब है कि आठ साल पहले स्तनपान कराने के चलते ग्रीन पार्टी की युवा सदस्य सारा हनसन को उनकी दो साल की बेटी कोरा के साथ संसद से बाहर निकाल दिया गया था. आठ साल बाद ऑस्ट्रेलियाई सरकार का ये कदम उदार कहा जाएगा.

उन्होंने नवंबर में कहा था, ”अगर हम संसद में और युवा महिलाएं चाहते हैं तो हमारे नियमों के उदार और प्रोग्रेसिव होने की ज़रुरत है जिससे हाल में बच्चों को जन्म देने वाली मां और पिता, संसद और बच्चों की परवरिश की भूमिका में संतुलन ला सकें'.

स्तनपान का विषय दुनिया भर की संसद में एक संवेदनशील मुद्दा रहा है. साल 2016 में स्पेनिश सांसद कैरोलिना बेसकांसा को भी संसद में अपनी बच्ची ले जाने और स्तनपान कराने के लिए आलोचना झेलनी पड़ी थी.

Source: IndiaTimes