मंगलवार सुबह जम्मू कश्मीर में श्रीनगर एयरपोर्ट के पास आतंकियों ने बीएसएफ के 182 बटालियन कैंप को निशाना बनाया. आतंकियों के इस हमले को नाकाम करते हुए बीएसएफ ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया, पर अचानक हुए इस हमले में बीएसएफ के कुछ जवानों के घायल होने के साथ ही ASI ब्रिज किशोर यादव शहीद हो गए.

ब्रिज किशोर यादव झारखंड के साहेबगंज के रहने वाले थे. उनके पार्थिव शरीर को उनके गांव में ही अग्नि दी गई. इस भावुक मौके पर जब सबकी आंखें नम थी, दिगवंत ब्रिज किशोर की बेटी सुषमा कुमारी ने कहा कि 'मेरे पिता की मौत का बदला लेने के लिए आप कम से कम 100 आतंकवादियों के सिर काट कर लाये.'

सुषमा ने आगे कहा कि 'हमें आतंकियों के ख़िलाफ़ कड़े कदम उठाने की ज़रूरत है.' बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने ब्रिज किशोर को राजकीय सम्मान देने के साथ ही परिवार को 11 लाख रुपये देने की घोषणा की है. राष्ट्रीय जनता दल के चीफ़ लालू प्रसाद ने भी परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की.