बाहुबली, भारतीय सिनेमा इतिहास की सबसे कामयाब फ़िल्म बन चुकी है. ये फ़िल्म हिन्दी सहित कुल 36 भाषाओं में डब होकर रिलीज़ हुई. बाहुबली की कामयाबी में उन लोगों का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा, जिन्होंने इसके डब संस्करण में अपनी आवाज़ दी. ये फ़िल्म डब होकर हिन्दी में भी रिलीज़ हुई. हिंदी डब संस्करण में शरद केलकर, नीती माथुर और समय राज ठक्कर जैसे वॉइस ओवर आर्टिस्ट्स ने प्रमुख पात्रों के लिये अपनी आवाज़ दी.

बाहुबली

अमरेन्द्र बाहुबली (प्रभास) का किरदार फ़िल्म की जान है. बाहुबली के किरदार की डबिंग के लिए एक दमदार आवाज़ की ज़रूरत थी. इस ज़रूरत को पूरा किया शरद केलकर ने. शरद टीवी सीरियल्स और मराठी फ़िल्म जगत के जाने माने नाम हैं. इसके अलावा शरद एक सफ़ल मॉडल और वॉइस ओवर आर्टिस्ट भी हैं. इन्होंने X-Men- Apocalypse और xXx- Return of Xander Cage जैसी कई हॉलीवुड फ़िल्मों के हिन्दी संस्करण में अपनी आवाज़ दी है.

देवसेना

देवसेना (अनुष्का शेट्टी) के किरदार को नीती माथुर ने अपनी आवाज़ दी है. नीती मूलरूप से मुम्बई की रहने वाली हैं. देवसेना के किरदार के अलावा भी इन्होंने कई सारे सीरियल्स और एनिमेटेड फ़िल्मों में अपनी आवाज़ दी है.

भल्लालदेव

बाहुबली के मुख्य खल पात्र भल्लालदेव (राणा दग्गुबाती) के लिये मनोज पांडे ने वॉइस ओवर किया है. मनोज मूलरूप से एक वॉइस ओवर आर्टिस्ट हैं. मनोज ने कई एनिमेटेड कैरेक्टर्स के साथ-साथ द ट्रांसपोर्टर, लॉर्ड ऑफ़ रिंग्स और स्काईफ़ॉल जैसी हॉलीवुड फ़िल्मों के लिये भी वॉइस ओवर किया है.

शिवगामी देवी

बाहुबली की सबसे ताकतवर महिला पात्र राजमाता शिवगामी देवी (राम्या कृष्णन) के किरदार के लिये मौसम ने आवाज़ दी है. मौसम जन्मी तो सूरत (गुजरात) में थीं, लेकिन अब पूरी तरह से मुम्बई में ही बस गई हैं. मौसम ने बतौर डबिंग आर्टिस्ट हिम्मतवाला और ढोल जैसी फ़िल्मों में भी अपनी आवाज़ दी है.

कटप्पा

कटप्पा (सत्यराज) बाहुबली के सबसे लोकप्रिय किरदारों में से एक है. इस किरदार की लोकप्रियता बढ़ाने में डबिंग आर्टिस्ट समय राज ठक्कर का भी हाथ रहा, जिन्होंने अपनी दमदार आवाज़ से इस किरदार को अमर कर दिया. समय ने हॉलीवुड की मशहूर फ़िल्म 'एवेंजर्स' में हल्क के किरदार का भी वॉइस ओवर किया है. समय राज वॉइस ओवर करने के साथ-साथ एक्टिंग के क्षेत्र में भी सक्रिय हैं.

बाहुबली को हिन्दी बॉक्स ऑफ़िस पर मिली कामयाबी में इन डबिंग आर्टिस्ट्स का भी अहम योगदान रहा. इनकी आवाज़ के बिना ये फ़िल्म अधूरी लगती.

Art By; Shruti Mathur