ऑस्ट्रेलिया-साउथ अफ़्रीका के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट के दौरान हुआ बॉल टेंपरिंग विवाद थमा भी नहीं था कि एक और विवाद ने ऑस्ट्रेलियाई टीम पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं. अब ये सवाल उठ रहा है कि क्या ऑस्ट्रेलिया ने एशेज़ सीरीज़ के दौरान इंग्लैंड को 4-0 से हराने में भी बॉल टेंपरिंग का सहारा लिया था?

Source: stuff

एशेज़ सीरीज़ को लेकर ऐसा ही एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक बार फिर कैमरन बैनक्रॉफ़्ट की हरकत संदिग्ध लग रही है. ये सीसीटीवी फ़ुटेज ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच सिडनी में खेले गए पांचवे टेस्ट मैच के दौरान की बताई जा रही है. सीसीटीवी में क़ैद बैनक्रॉफ़्ट इस बार मैच शुरू होने से पहले एक चम्मच चीनी अपनी पॉकेट में डालते हुए नज़र आ रहे हैं. अगर ये सीसीटीवी फ़ुटेज सही पायी गयी, तो बैनक्रॉफ़्ट पर लाइफ़ टाइम बैन भी लग सकता है.

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इस वीडियो को लेकर लोग तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि बैनक्रॉफ़्ट ने जिस तरह तीसरे टेस्ट के दौरान टेप का इस्तेमाल कर बॉल की कंडीशन बदली थी, उसी तरह चीनी से बॉल को रब करने से ही ऑस्ट्रेलिया ने एशेज़ सीरीज़ के दौरान इंग्लैंड को 4-0 से हराया हो.

बॉल टेम्परिंग विवाद के बाद आईसीसी ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ पर मैच फ़ीस का 100% जुर्माने के साथ-साथ एक टेस्ट मैच का बैन लगाया है. जबकि कैमरन बेनक्रॉफ्ट को 75% मैच फ़ीस के साथ तीन डीमेरिट पॉइंट्स मिले हैं. वहीं डेविड वॉर्नर को भी उप-कप्तानी से हटा दिया है. ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ख़ुद स्टीव स्मिथ को टीम की कप्तानी से हटाने की बात कह चुके हैं.

Source: iol

दि टेलीग्राफ़ की ख़बर के मुताबिक़, इस मामले को बढ़ता देख ऑस्ट्रेलिया का क्रिकेट बोर्ड इन दोनों खिलाड़ियों पर साल भर का महीने का बैन लगा सकता है. साथ ही ऑस्ट्रेलियाई हेड कोच डैरेन लेहमैन को कोच पद से इस्तीफा देना पड़ सकता है. उनके स्थान पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ जस्टिन लैंगर को ऑस्ट्रेलियाई टीम का नया कोच नियुक्त किया जा सकता है.

Source: crickethistory

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट के प्रमुख जेम्स सदरलैंड ने दक्षिण अफ्रीका पहुंचते ही कहा कि इस घटना से ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट प्रेमी दुखी हैं, इस मामले में जल्द ही फ़ैसला आएगा. अगले टेस्ट के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज़ टिम पेन ऑस्ट्रेलियाई टीम की अगुवाई करेंगे.

बैनक्रॉफ़्ट के इस नए वीडियो को लेकर अभी तक किसी भी प्रकार की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है कि ये बॉल टेम्परिंग से जुड़ा है कि नहीं.

Source: hindustantimes