जेल में समय काटना मानसिक तौर पर कितना पीड़ादायक हो सकता है, इसकी ताज़ा बानगी मुंबई में सामने आई है. हाल ही में आई एक रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई के आर्थर रोड जेल में बंद एक कैदी ने जेल से भागने के लिए 22 फ़ीट की दीवार से छलांग लगा दी. दरअसल इस कैदी को ईद की सुबह नमाज़ पढ़ने के लिए अपनी सेल से बाहर जाने का मौका मिला था. लेकिन उसका ये खतरनाक दांव उस पर भारी पड़ गया.

बांग्लादेश के रहने वाले इस शख़्स का नाम रोमन इस्लाम हुसैन है. 27 साल के रोमन को महज 10 दिनों पहले ही गैरकानूनी अप्रवासी होने के चलते गिरफ़्तार किया गया था. पुलिस के मुताबिक, रोमन को जेल में समय गुज़ारना भारी पड़ रहा था जबकि उसे यहां दिन काटते 15 दिन भी नहीं बीते थे. दरअसल उसके परिवार की तरफ़ से कोई भी उससे मिलने नहीं पहुंचा था और यही बात उसे मानसिक तौर पर परेशान कर रही थी.

हुसैन को जब ईद की नमाज़ के लिए अपने सेल से बाहर आने का मौका मिला तो उसे लगा कि उसकी रमज़ान की सारी दुआएं कबूल कर ली गई हैं. हुसैन जेल से फ़रार होने के इस मौके को हाथ से नहीं गंवाना चाहता था. जेल में मौजूद कैदियों को एक बैराक में ले जाया गया था. इसके पास ही एक दीवार मौजूद थी जहां कुछ और नए बैराक बने हुए थे. हुसैन ने इस दीवार का मुआयना किया और जेल से भाग निकलने की तरकीबें भिड़ाने लगा.

एक रिपोर्ट के अनुसार, सुबह करीब 11.20 पर जब वो दीवार के चबूतरे पर चढ़ने की कोशिश कर रहा था, तो उसे एहसास हुआ कि वहां पास ही में नज़र आ रहे एक पेड़ पर कूदना मुश्किल होगा, सो उसने 22 फ़ीट नीचे छलांग लगाने का निर्णय लिया. हुसैन दीवार के एक सिरे से कूदा और स्टेट रिजर्व प्रोटेक्शन फ़ोर्स के एक वाहन पर गिरते हुए, नीचे जा गिरा. इस दुर्घटना में उसके पांव बुरी तरह ज़ख्मी हो गए.

हुसैन के पैरों का फ़िलहाल एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. रिपोर्ट के अनुसार, रोमन पर अब आईपीसी की धारा 224 के तहत एक और एफ़आईआर दर्ज कर ली हुई है.

Source: Topyaps