लोगों के दिमाग में बिहार को लेकर कैसी भी मानसिकता बनी हुई हो, पर कला के क्षेत्र में बिहार बाकि राज्यों से काफ़ी आगे नज़र आता है. बिहार की मधुबनी पेंटिंग्स पहले ही कला के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बना चुकी हैं. बॉलीवुड में भी अच्छे एक्टर्स का एक जत्था बिहार से ही आता है, जिसमें पंकज त्रिपाठी से ले कर दादा साहेब अवॉर्ड जीत चुके मनोज बाजपाई का नाम भी शामिल है.

इसी क्रम में एक नया नाम प्रभाकर शरण का भी है, जो बॉलीवुड से कोसों दूर, लैटिन अमेरिकन सिनेमा से अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत कर चुके हैं. आउटलुक मैगज़ीन की एक ख़बर के मुताबिक, 2017 में प्रभाकर की आई फ़िल्म 'Enredados: La Confusion' को दर्शकों का काफ़ी प्यार मिला था. बॉलीवुड की तर्ज पर बनी ये फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर सफ़ल रही थी और निर्माताओं के लिए फ़ायदे का सौदा साबित हुई थी. इस फ़िल्म की सफ़लता को देखते निर्माता मार्च या अप्रैल में इसे अमेरिका के अन्य हिस्सों में भी रिलीज़ करने की तयारी कर रहे हैं.

ख़बरों की मानें, तो इंडिया में ये फ़िल्म हिंदी और भोजपुरी में रिलीज़ होगी. Costa Rica के फ़िल्म कमिश्नर Jose Castro का कहना है कि 'Costa Rican' फ़िल्म इंडस्ट्री में पहली बार कोई इस तरह की फ़िल्म बनी है, जिसने सफ़लता के ऐसे मुकाम को छुआ हो.' आज बेशक प्रभाकर एक सफ़ल मुकाम पर पहुंचे हुए दिखाई देते हों, पर उनकी सफ़लता की कहानी भी कुछ कम फ़िल्मी नहीं है. The Wire की रिपोर्ट की माने, तो बॉलीवुड में कोई ब्रेक न मिलने के बाद प्रभाकर ने अमेरिका जाने का मन बनाया, पर अमेरिका के बजाय वो Costa Rica पहुंच गए, जहां उन्हें एक स्थानीय लड़की से प्यार हो गया और उन्होंने शादी कर ली. इसके बाद प्रभाकर ने ख़ुद का काम शुरू किया, पर हर काम में उन्हें नाकामी का ही मुंह देखना पड़ा. निराश हो कर 2010 में प्रभाकर अपनी पत्नी के साथ दोबारा बॉलीवुड में काम करने की चाहत में इंडिया लौट आये, पर बॉलीवुड ने अब भी उनके लिए अपने दरवाज़े नहीं खोले. ये वो दौर था, जब नाकामी और तनाव प्रभाकर को घेरने लगे थे, उनकी शादी भी टूटने के कगार पर आ गई थी. शादी को बचाने के लिए प्रभाकर अपनी पत्नी और बेटी के साथ 2014 में वापस Costa Rica लौट आये.

Source: MidDay

प्रभाकर का कहना है कि 'उनकी पत्नी Teresa Rodriguez Cerdas ने उनके सपने को अपना सपना बनाया और आखिर में दोनों ने मिलकर करीब 1.5 मिलियन डॉलर इकट्ठे किये और फ़िल्म के लिए फंड जुटाया.' ये प्रभाकर की मेहनत का ही असर है कि 'Enredados: La Confusion' एक सुपरहिट फ़िल्म साबित हुई.

हम उम्मीद करते हैं कि भविष्य में ऐसी ही कामयाबी प्रभाकर का साथ दे और एक से एक बेहतरीन फ़िल्में बना कर देश का नाम रौशन करें.

Source: indiatoday