एक शायर ने कहा है कि 'लहरों से डर कर नौका पर नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती'. ये कहावत उस समय हक़ीक़त में बदलती हुई दिखाई देती है, जब आप डेनमार्क की रहने वाली 21 वर्षीय Mathilde Broberg को देखते हैं.

कुछ सालों पहले तक Mathilde Broberg का वज़न 124 किलोग्राम के आस-पास था, जिसे देखते हुए डॉक्टरों ने Broberg को सर्जरी करा वज़न कम करने की सलाह दी थी.

बढ़े हुए वज़न का एहसास उन्हें उस समय हुआ, जब उनके वजन की वजह से उन्हें रोलरकोस्टर राइड देने से मना कर दिया गया था. इस घटना को Broberg बहुत ही गंभीरता से लिया और वज़न कम करने की ठानी. इसके बाद Broberg ने चॉकलेट और स्नैक्स खाना बन्द कर दिया और डेली एक्सरसाइज़ करने लगी.

डॉक्टरों की निगरानी में उन्होंने हेल्थी डाइट को अपने खाने में शामिल किया और फालतू चर्बी को अपनी बॉडी से हटाया, जिसके बाद अब उनका वज़न करीब 63 किलो के आस-पास है.

इसके साथ ही उनकी पहचान अब एक स्पोर्ट्सवेयर और कैटेलॉग मॉडल के रूप में स्थापित हो चुकी है.

इन सब के अलावा Broberg हर दिन जिम में जम कर पसीना भी बहाती हैं, जिसके लिए वो अपने पर्सनल ट्रेनर की मदद लेती हैं.

अपने बीते दिनों को याद करते हुए Broberg कहती हैं कि अगर मैं तीन साल पहले किसी से कहती कि 'मैं मॉडल बनना चाहती हूं, तो शायद लोग मुझ पर हंसते और मेरा मज़ाक उड़ाते, पर आज देखिये मैंने इसे हक़ीक़त में बदल डाला.'

Source: thesun