15 अगस्त 1947 आज ही के दिन भारत अंग्रेज़ों की गुलामी से आज़ाद हुआ था. हज़ारों क्रांतिकारियों देश की आज़ादी के लिए हंसते-हंसते कुर्बान हो गए. ये उनकी कुर्बानी का ही नतीजा है कि हम हर साल इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के तौर पर मनाते हैं. इस ख़ास मौके पर बॉलीवुड कैसे पीछे रह सकता था, जब कभी भी देशप्रेम की बात होती है बॉलीवुड फ़िल्मों के ज़रिये अपना योगदान देता रहा है. कई बॉलीवुड फ़िल्मों में हम देश के उन शहीदों और क्रांतिकारियों की दास्तान को देख चुके हैं, जो हमेशा से हमारे लिए प्रेरणास्रोत रहे हैं.

Source: india.com

हमारे देश में हर साल ईद, होली, दिवाली और क्रिसमस के दिन कई फ़िल्में रिलीज़ होती हैं, और 15 अगस्त के दिन भी कई फ़िल्में रिलीज़ होती हैं. मगर यहां सोचने वाली बात ये है कि स्वतंत्रता दिवस के इस मौके पर कभी भी कोई देशभक्ति या देशभक्त पर आधारित कोई भी ऐसी फ़िल्म रिलीज़ नहीं की गई. वहीं ये भी सच है कि इस ऐतिहासिक मौके पर देशवासियों को कुछ ऐसी फ़िल्में देखने को मिली, जिनको देखकर हर कोई यही कहेगा कि आख़िर इसी दिन क्यों? इतने बड़े मौके पर जब देशप्रेम आधारित फ़िल्में दिखाई जानी चाहिए थी, उस समय बॉलीवुड फ़िल्म निर्माताओं ने अपने फ़ायदे के लिए दर्शकों के बीच कुछ ऐसी फ़िल्में परोस दीं, जिनका आज़ादी और देशप्रेम से दूर-दूर तक कोई वास्ता ही नहीं है.

पिछले 43 सालों में रिलीज़ हुई फिल्मों में से ये कुछ ऐसी हिट फ़िल्मों की लिस्ट है, जो स्वतंत्रता दिवस के मौके पर रिलीज़ हुई हैं:

1- शोले

Source: jansatta

बॉलीवुड की सबसे बेहतरीन फ़िल्मों में से एक शोले 15 अगस्त, 1975 को रिलीज़ हुई थी. भले ही इस फ़िल्म का हर एक किरदार और डायलॉग आज भी लोगों की जुबान पर हों, लेकिन स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इसका रिलीज़ होने का कोई मतलब नहीं बनता.

2- सिंघम रिटर्न्स

Source:

सिंघम रिटर्न्स 15 अगस्त, 2014 को रिलीज़ हुई थी. इस फ़िल्म में एक पुलिस अधिकारी की कहानी दिखाई गयी थी, वो किस तरह समाज में फ़ैले भ्रष्टाचार और बुराईयों से लड़ता है. लेकिन इस फ़िल्म में भी देशप्रेम और आज़ादी जैसा कुछ भी नहीं देखने को मिला.

3- Once Upon A Time In Mumbai Dobaara

Source: filmg.com

आतंकवाद और क्राइम पर आधारित इस फ़िल्म को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर रिलीज़ करना हास्यास्पद लगता है. निर्माता-निर्देशकों ने सिर्फ़ और सिर्फ़ अपने फ़ायदे के लिए दर्शकों के आगे ऐसी फ़िल्म परोस दी. अगर आपको याद हो तो इस फ़िल्म के लिए कहा जाता है कि ये फ़िल्म अंडरवर्ड डॉन दाऊद पर बनाई गई थी.

4- एक था टाइगर

Source: aajtakintoday

जासूसी पर आधारित सलमान ख़ान की इस फ़िल्म का सीधे तौर पर आज़ादी की लड़ाई से कोई लेना देना नहीं था. लेकिन इसको भी 15 अगस्त, 2012 के दिन रिलीज़ की गई थी.

5- गॉड तुस्सी ग्रेट हो

Source: musixmatch

सलमान खान की एक और डिज़ास्टर मूवी, जो स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ही रिलीज़ हुई थी. ऐसी बेहूदा फ़िल्म बनाने से अच्छा तो उस पैसे को शहीदों के परिवारों को दे देते, तो इस देश का भला होता.

6- बचना ए हसीनों

Source: bollywoodmp4.net

इस फ़िल्म के तो नाम से हैरानी होती है कि इस ऐतिहासिक मौके पर इस फ़िल्म को रिलीज़ करने का कोई मतलब नहीं बनता.

7- तेरे नाम

Source: tunesdesibantu

ये फ़िल्म सलमान खान की एक अच्छी फ़िल्म थी, जिसमें एक आशिक अपनी प्रेमिका कारण पागल हो जाता है और फिर दोनों मर जाते हैं.

8- होली

Source: imdb.com

होली मिस्टर परफ़ेक्शनिस्ट के नाम से मशहूर आमिर खान की पहली फ़िल्म थी. कॉलेज जीवन पर आधारित इस फ़िल्म में भी हमें देशप्रेम वाली कोई बात नज़र नहीं आयी. आमिर खान जैसे संजीदा कलाकार को भी हमने आज तक इस ऐतिहासिक मौके पर फ़िल्म रिलीज़ करते नहीं देखा. उनकी मंगल पांडे फ़िल्म भी 12 अगस्त को रिलीज़ हुई थी.

9- और प्यार हो गया

Source: freekaraoke

इस फ़िल्म के ज़रिये मिस वर्ल्ड ऐश्वर्या राय ने बॉलीवुड में डेव्यू किया था. भले ही ऐश्वर्या को ऐसे मौके पर बॉलीवुड में डेव्यू करने का मौका मिला हो, लेकिन स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इस तरह की फ़िल्म का रिलीज़ होना हास्यास्पद लगता है.

10- फ़ुटपाथ

Source: saavn.com

इस फ़िल्म के ज़रिये इमरान हाश्मी ने बॉलीवुड में एंट्री की थी. न तो ये फ़िल्म सीरियल किसर के नाम से मशहूर इमरान के लिए ऐतिहासिक रही न ही देशप्रेम से ओतप्रोत दर्शकों के लिए.

क्या बॉलीवुड का ये फ़र्ज़ नहीं बनता है कि वो ऐसे ऐतिहासिक मौके पर इस तरह की फ़िल्में दिखाने की बजाय, आज़ादी और देशप्रेम पर आधारित फ़िल्में दिखाएं.

अगर आप हमारी इस बात से सहमत हैं, तो कमेंट करके बताएं.