दुनिया में हर शख़्स को अपने चेहरे से बेइन्ताह प्यार होता है. इसे ख़ूबसूरत बनाये रखने के लिए कभी वो ब्यूटी प्रोडक्ट्स का सहारा लेता है, तो कभी किसी डॉक्टर की मदद लेता है. आज के ज़माने में शायद ही कोई शख़्स हो, जो अपने चेहरे पर किसी भी तरह के दाग को अपनाये और उसे अपनी नियति के बजाय अपनी ख़ूबसूरती का हिस्सा माने.

ब्राज़ील की रहने वाली 24 वर्षीय Mariana Mendes ऐसे ही गिने-चुने लोगों में से एक हैं, जिन्होंने अपने बर्थमार्क को अपनी ख़ूबसूरती का हिस्सा माना है. उनका मानना है कि उनका ये बर्थमार्क ही उन्हें दूसरों से अलग और अनोखा बनाता है.

5 साल की उम्र में Mariana की मां ने इस बर्थमार्क को कम करने के लिए लेज़र तकनीक का भी सहारा लिया था. उन्हें डर था कि Mariana के इस मार्क की वजह से लोग उन्हें चिढ़ा सकते हैं.

पर आज इसी बर्थमार्क की वजह से Mariana अपनी अलग पहचान बनाये हुए हैं. मॉडलिंग के ज़रिये स्टाइल असिस्टेंट बन चुकी Mariana का कहना है, 'कई बार लोग उनके इस बर्थमार्क को टैटू मान बैठते हैं, पर मुझे इसके बारे में उन्हें बताने में कभी कोई शर्म महसूस नहीं होती.

शरीर के किसी एक हिस्से में कलर पिग्मेंट के बढ़ जाने की वजह से वो हिस्सा काला पड़ जाता है. 20,000 बच्चों में से कोई एक बच्चा ऐसे बर्थमार्क के साथ पैदा होता है.

Source: metrouk