कुछ सालों से लोगों में टैटू का क्रेज़ बहुत बढ़ गया है, लोग तरह-तरह के टैटू बॉड के अलग-अलग पार्ट्स पर करवाते हैं. आपने लोगों को बॉडी के सेंसिटिव हिस्सों पर टैटू कराये हुए देखा होगा. ये तो आपको पता ही होगा कि टैटू जब बनता है तो बहुत दर्द भी होता है, लेकिन फिर भी लोग दर्द सहकर इसे बनवाते हैं. अगर ये टैटू आकर्षक लगते हैं, तो इनके दुष्प्रभाव भी होते हैं. जैसा कि इस मॉडल के साथ हुआ, टैटू के कारण उसकी आंख की रौशनी चली गई.

Canada के Ottawa शहर की एक 24 वर्षीय मॉडल Catt Gallinger ने अपनी दाहिनी आंख की रौशनी खो दी क्योंकि जब उसने टैटू बनवाया था, तो उसको बनाने का प्रोसेस बहुत ही ग़लत हो गया. हालांकि, धीरे-धीरे उनकी स्थिति में सुधार हो रहा है. लेकिन पिछले महीने Sclera Tattoo बनवाने के अपने निर्णय के बाद वो इस पर पछता रही हैं. Sclera Tattoo में आंख के सफ़ेद हिस्से को कलर्ड किया जाता है.

The Sun के अनुसार, आंख में टैटू बनवाने के अपने निर्णय को एक 'बड़ी ग़लती' कहते हुए Gallinger ने इस प्रक्रिया के भयंकर परिणामों को सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

उन्होंने अपनी Facebook Wall पर कुछ फ़ोटोज़ पोस्ट कीं, जिनमें इस 24 वर्षीय Catt Gallinger ने अपनी आंख के ठीक होने के अलग-अलग चरणों को दिखाया है. ये फ़ोटोज़ तब की हैं जब पिछले महीने वो आंख से बैंगनी रंग के पानी के निकलने की शिकायत लेकर हॉस्पिटल गयीं थीं.

हॉस्पिटल में डॉक्टर्स ने उनकी आंख में एंटीबायोटिक ड्राप डालकर घर भेज दिया था. लेकिन ट्रीटमेंट शुरू होने के कुछ ही देर बाद उनकी आंख सूज गई और बंद हो गई.

उसके बाद डॉक्टर्स ने Gallinger की आंख की सूजन को कम करने के लिए उनको स्टेरॉयड ड्रॉप भी दिए, लेकिन तीन हफ़्तों के बाद बैंगनी टैटू उनकी आंख में कॉर्निया के चारों ओर घूमने लगा. इस वजह से उनको धुंधला दिखने लगा और लगातार असहनीय दर्द होने लगा.

Gallinger ने The Sun को बताया कि अपने इलाज के लिए अभी तक वो सैंकड़ों डॉलर खर्च कर चुकी हैं. इसके अलावा उन्होंने कहा कि इसकी वजह से जब तक उनकी आंख ठीक नहीं हो जाती, तब तक के लिए उनका मॉडलिंग कैरियर रुक गया है.

The Sun से बात करते हुए Gallenger ने कहा कि सबसे पहले वो दूसरों को आगाह करना चाहती है, 'केवल कलाकार और उनके पोर्टफ़ोलियो पर गौर न करें, बल्कि उनके कुछ क्लाइंट्स से भी बात करें, साथ ही दूसरे आर्टिस्ट्स से भी उनके बारे में पता करें और दूसरे लोगों से उस आर्टिस्ट के अनुभवों को समझें.

डॉक्टर ने Gallenger से कहा कि उनकी आंख हमेशा के लिए खराब हो गई है, या ऐसा भी हो सकता है कि उनको इस आंख से पूरी तरह से दिखना बंद हो जाए या फिर धुंधला दिखने लगे.

लेकिन Gallenger ने आशा नहीं छोड़ी है, हालांकि, आंख की सर्जरी कराने से उसकी स्थिति और ख़राब होने से बच जायेगी. डॉक्टर्स का मानना है कि टैटू के लिए यूज़ की गई सूई का आकार, गहराई और स्याही की मात्रा के कारण Gallenger की आंख में ये समस्या हुई है. उनको शक़ है कि स्याही की अधिक मात्रा की वजह से इन्फेक्शन फैला है. ये इन्फेक्शन Gallenger की आंख में टैटू बनाने के लिए यूज़ किये गए ऐसे इक्विपमेंट्स से हुआ है, जिनको सही तरीके से साफ़ नहीं किया गया था.

Source: dailymail