फ़ेस्टिवल टाइम है ऐसे में हर कंपनी अपने कर्मचारियों को दिवाली बोनस के तौर पर आकर्षक गिफ़्ट बांटने में लगी हुई हैं. दिवाली के मौके पर कंपनियों के बीच एक होड़ सी लगी हुई है कि कौन अपने कर्मचारियों को कितने महंगे तोहफ़े देगा. कोई कर्मचारियों को महंगी कार तो कोई फ़्लैट की चाबी देने में भी पीछे नहीं हैं. लेकिन 'कैपिटल फ़र्स्ट लिमिटेड' नाम की एक कंपनी के संस्थापक व चेयरमैन ने तो हद ही कर दी. इन जनाब ने कर्मचारियों को दिवाली बोनस के तौर पर घर और कार नहीं, बल्कि को इतना महंगा गिफ़्ट दिया कि हर कोई हैरान रह गया.

Source: livemint.com

दरअसल, वैद्यनाथन वेंबू ने अपने कर्मचारियों, ड्राइवर और नौकरानी को 20 करोड़ रुपए की कीमत वाले 4,30,000 शेयर दिवाली गिफ़्ट के रूप में दे दिए हैं. वैद्यनाथन वेंबू 'कैपिटल फ़र्स्ट लिमिटेड' कंपनी में 4.08% की हिस्सेदारी रखते हैं. इस हिसाब से देखा जाए, तो उन्होंने एक बड़ी रकम दिवाली गिफ़्ट के तौर पर बांट दी है.

Source: capitalfirst

वेंबू ने अपने ड्राइवर और घर में काम करने वाली नौकरानी को 6500-6500 शेयर दिए हैं. जिनकी क़ीमत लाखों में है. जबकि 26 पूर्व और वर्तमान कर्मचारियों को भी गिफ़्ट के तौर पर 11,000 शेयर मिले हैं. इस समय शेयर मार्किट में 'कैपिटल फ़र्स्ट' के एक शेयर की क़ीमत क़रीब 478.60 रुपए है. इस हिसाब से 11,000 शेयर पाने वाले कर्मचारियों को 52.64 लाख जबकि ड्राइवर और नौकरानी को 31-31 लाख रुपये दिवाली गिफ़्ट के तौर पर मिले हैं.

परिजनों को भी बांटे करोड़ों के गिफ़्ट

Source: moneylife

वेंबू ने अपने भाई सत्यमूर्थी को 26,000 शेयर जबकि दूसरे भाई कृष्णूर्ति को 13,000 शेयर गिफ़्ट के तौर पर दिए हैं. इसके अलावा उन्होंने अपने 8 अन्य परिजनों को भी 71,500 के शेयर दिए हैं.

Source: capitalfirst

वैद्यनाथन वेंबू ने स्टाॅक एक्सचेंज फ़ाइलिंग के दौरान कहा कि, उनके परिवार व सगे-संबंधी हमेशा उनके साथ खड़े रहे हैं. उनके पास ये मौका धन्यवाद देने का है. इसलिए उन्होंने अपने व्यक्तिगत स्टेक में से इन्हें ट्रांसफ़र करने का फ़ैसला किया है. इनमें से कोर्इ भी कंपनी का उत्तराधिकारी नहीं है.

Source: capitalfirst

इस दौरान वैद्यनाथन ने कहा कि जब उनकी कंपनी 2010 में स्टार्ट-अप के दौर में थी, तब कुछ लोगों ने इसे खड़ी करने में उनकी मदद की थी. इस मुक़ाम तक पहुंचने के लिए हमने कड़ी मेहनत की है, जो हमारे लिए मील का पत्थर साबित होने जैसा है.

पिछले महीने ही 'कैपिटल फ़र्स्ट' को IDFC Bank के साथ मर्जर के लिए शेयरधारकों से मंजूरी मिली है.

Source: thebetterindia