बीते दो दिनों में मुंबई पुलिस मज़ाक का पात्र बन गई थी क्यूंकि उसने Chain-Snatcher तैफ़ीक तेजी शाह को पकड़ने का मौका सिर्फ़ इसलिए जाने दिया क्योंकि शादी के दिन दूल्हे को पकड़ना सामाजिक नहीं था.

ये ख़बर गज़बपोस्ट पर भी आपने पढ़ी होगी

सोशल मीडिया पर उड़ते मज़ाक से मुंबई पुलिस के आला अधिकारियों की भी नींद हराम हो गई थी. MidDay के अनुसार खुद पुलिस वालों ने भी इसकी शादी में ठुमके लगाए. अब जब बात इतनी बड़ी हो, तो मज़ाक बनना तो तय था.

Source: mid day

बड़े अधिकारियों के लिए इन मज़ाकों पर ब्रेक लगाना ज़रूरी था और ये सिर्फ़ तौफ़ीक को जल्द से जल्द पकड़ने से होता. मुश्तैदी दिखाते हुए मुंबई पुलिस ने तौफ़ीक को पकड़ कर उसे हिरासत में ले लिया.

Source: mid day

शादी के दो दिन बाद ही तौफ़ीक को उसके घर से पकड़ा गया. करीब 15 मिनट के इस ऑपरेशन में 20 पुलिस कर्मी मौजूद थे. किसी भी तरह की समस्या से बचने के लिए तौफ़ीक के पड़ोसियों को घरों में बंद किया गया और उसे पकड़ कर थाने ले गई.

दो दिनों से पुलिस ने तौफ़ीक पर नज़रें बनाई हुई थीं, जिसमें उसकी हर गतिविधी पर नज़र रखी जा रही थी. जैसे ही पुलिस वालों को सही मौका हाथ लगा, उन्होंने बिना देरी किए उसे पकड़ लिया. सबसे पहले इसे 2012 में हिरासत में लिया गया था, 2016 में तौफ़िक को दोबारा हिरासत में लिया गया था, लेकिन उस वक़्त वो पुलिस को चकमा दे कर भाग गया था. तब से पुलिस उसे पकड़ने की कोशिश कर रही थी.

'कुख़्यात चोर को नहीं किया पुलिस ने गिरफ़्तार, क्योंकि शादी से दूल्हे को उठाना हमारी तहज़ीब नहीं'