'चलो दिलदार चलो, चांद के पार चलो…', ये गाना सुनते वक़्त शायद ही किसी आशिक ने सोचा होगा कि एक दिन ऐसा सच में हो सकेगा. ये नामुमकिन सा लगने वाला कारनामा कर दिखाया है चीन की स्पेस एजेंसी ने. उनके Chang'e 4 नाम के अंतरिक्ष यान ने चांद के पार पहला कदम रख दिया है. चांद के इस हिस्से पर अभी तक कोई भी नहीं पहुंचा था.

Source: twitter.com

इस यान ने चांद के इस दक्षिणी धुर की फ़ोटो चीन की स्पेस एजेंसी को भेजी है. China's National Space Administration (CNSA) ने इन तस्वीरों को ट्विटर पर शेयर किया है.

Source: twitter.com

CNSA ने एक मीडिया रिपोर्ट जारी कर इस पूरे मिशन के बारे में विस्तार से बताया है. इसके मुताबिक, Chang'e 4 ने कल सुबह 10 बजे चांद के इस अंधेरे हिस्से को छुआ. इसके बाद इस स्पेसक्राफ्ट ने उसकी सतह की तस्वीरें खींचकर CNSA को भेजी.

Source: twitter.com

चांद का ये हिस्सा पृथ्वी से नहीं दिखाई देता क्योंकि जिस गति से चांद पृथ्वी के चक्कर लगाता है, उसी गति से अपनी धुरी पर घूमता रहता है. इस हिस्से के बारे में सभी को पता तो था, लेकिन कोई भी अंतरिक्ष यान यहां नहीं पहुंच पाया था. 

Source: twitter.com

चांद का ये पार्ट पहाड़ी है और यहां से सैटेलाइट के ज़रिये पृथ्वी से सीधे संपर्क साधना भी मुश्किल है. इसलिए अंतरिक्ष की दुनिया में चीन की ये उपलब्धि काफ़ी मायने रखती है. 

Source: twitter.com

चीन का अगला कदम अब चांद के इस अंधेरे हिस्से पर मानव को पहुंचाना है. वहीं भारत भी इसी साल चंद्रयान-2 को चांद पर भेजने की तैयारी कर रहा है.