चीन में एक बेहद अजीबोगरीब मामले में एक दो मुंह वाले बच्चे के जन्म ने कई मेडिकल विशेषज्ञों को हैरानी में डाल दिया है. उसके चेहरे की इस विकृति की वजह से इस बच्चे को सामान्य जीवन बिताने में काफी परेशानी आ रही है. विकृत हो चुके चेहरे की वजह से ऐसा लगता है कि इस बच्चे के दो चेहरे उभर आए हैं, जिसकी वजह से ये मीडिया में पिछले कई सालों से मास्क बॉय के तौर पर पहचाना जाने लगा है.

हुइकैंग नामक इस बच्चे की मां ने जब उसे पहली बार देखा था, तो वह हैरान रह गई थी. पैदा होने के तुरंत बाद जब इस महिला ने अपने बेटे को देखना चाहा तो वहां मौजूद डॉक्टर बात को टालने की कोशिश करने लगे लेकिन महिला के कई बार आग्रह करने के बाद आखिरकार डॉक्टरों ने जब इस बच्चे को उसकी मां के सामने पेश किया, तो हैरत और दहशत से इस महिला के होश उड़ गए.

यि लियांक्सी ने जब इस बच्चे को जन्म दिया तब उनकी उम्र महज 23 साल थी. वो अपने बच्चे की हालात को देखकर न केवल परेशान हुई, बल्कि काफ़ी हैरत में भी पड़ गई. यि ने बताया कि वह अपनी प्रेग्नेंसी के दौरान तीन अल्ट्रासाउंड स्कैन्स और एक डोपलर अल्ट्रासाउंड स्कैन से गुजरी थीं, लेकिन उसमें किसी भी तरह की विकृति सामने नहीं आई थी.

उन्होंने कहा कि मैंने देखा कि वह रो रहा है, उसकी हालत देखकर मैं भी रोने लगी. मेरा दिल टूट गया था. मुझे लगा कि ये मेरे साथ ही क्यों हो रहा है. इस बच्चे का चेहरा कितना ज्यादा विकृत हो चुका था, इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इस परिवार को जानने वाले लोग इस बच्चे को फेंकने की सलाह देने लगे थे, लेकिन बच्चे की दादी ने भावुक होते हुए कहा, आखिर हम ऐसा कैसे कर सकते थे.\

एक पारंपरिक गांव में रहने वाले हुईकांग के विकृत चेहरे की वजह से आस-पड़ोस के लोग उसके परिवार को काफी दुत्कारने लगे. गौरतलब है कि बच्चे का जन्म 4 मार्च 2009 को चीन के एक किसान परिवार में हुआ था और 2010 में जब इस परिवार ने हुइकांग का इलाज कराने का फैसला किया, तो चीनी मीडिया में इस बच्चे के विकृत चेहरे के बारे में खूब चर्चा हुई. वहीं अस्पताल के एक डॉक्टर का कहना था कि इस बच्चे की हालत बेहद दुर्लभ और गंभीर है.

पिछले सात सालों में कई चीनी मीडिया हाउसों ने हुइकांग की कहानी और तस्वीरों को अलग-अलग जगहों पर शेयर किया है. कई लोग इस बच्चे के हालातों को देखकर सकते में थे और बच्चे व परिवार की मदद करना चाहते थे.

मीडिया में हुई जबरदस्त रिपोर्टिंग की वजह से कई लोग इस बच्चे की मदद के लिए आगे आए और 19 मई और 1 सितंबर के बीच इस बच्चे को दो ऑपरेशंस से गुजरना पड़ा।

डॉक्टरों ने हालांकि दोनों ही ऑपरेशंस को सफल बताया था, लेकिन साथ ही उन्होंने ये भी जोड़ा था कि इस बच्चे को करीब 10 साल इंतजार करना पड़ेगा, जिससे ये पता चल सके कि इसकी फेशियल हड्डी सामान्य तरीके से उभर पाती है या नहीं.

पिछले कुछ महीनों में एक बार फिर इस बच्चे की स्टोरी एकाएक सुर्खियों में आई है, लेकिन ये कह पाना मुश्किल है कि यह किस स्तर तक सुधार कर पाया है. 2010 में इस बच्चे पर स्टोरी करने वाले पत्रकार के मुताबिक, वह कई सालों से इस बच्चे से नहीं मिले हैं और ये कह पाना मुश्किल है कि वह अब बेहतर अवस्था में है या उसकी हालत और खराब हो चुकी है.

Source: The Sun