हम सब के अंदर देश प्रेम का भूत कुछ इस कदर सवार है कि बिना सच जाने हम हर उस बात का समर्थन करते हैं, जिसमें देश प्रेम का ज़िक्र हो जाता है. इसी का फ़ायदा उठा कर कुछ लोग अपनी राजनीतिक रोटियां सेंक रहे हैं, तो कुछ हमें मूर्ख बना कर अपना उल्लू सीधा करने में लगे हुए हैं.

ऐसे ही लोगों की लिस्ट में एक नाम खुद को इंडियन आर्मी के कमांडोज़ का ट्रेनर बताने वाले शिफू़जी का भी है.

शिफू़जी उर्फ़ शौर्य भारद्वाज उस समय सुर्ख़ियों में आये थे, जब पाकिस्तान को चेतावनी देता हुआ उनका एक वीडियो सोशल मीडिया में आया था. देश प्रेम की भावना से प्रेरित हो कर हम लोगों ने भी उस वीडियो का खूब समर्थन किया. हमारे समर्थन का ये आलम था कि उनके इस वीडियो को लाखों बार यूट्यूब पर देखा गया और शिफू़जी रातों-रात स्टार बन गए. हालांकि खुद को शिफूजी कहने वाला ये शख़्स फ़िल्म 'बागी' में टाइगर श्रॉफ को ट्रेनिंग देता हुआ भी दिखाई दिया था.

पर इन सब के अलावा शिफूजी की एक सच्चाई और भी है, जिसे देशभक्ति के रंग में रंगे हम लोगों ने देखा ही नहीं, या यूं कहिये हमने इसे देखने की कोशिश ही नहीं की.

अहमदाबाद के रहने वाले अभिषेक शुक्ला ने शिफू़जी से संबंधित एक ऐसी ही सच्चाई को उजागर किया है, जिसने हमें एक बार सोचने पर मज़बूर कर दिया है कि कहीं हम भी देशभक्ति के चक्कर में भेड़ चाल तो नहीं चलने लगे हैं?

अपनी वेबसाइट पर शौर्य भारद्वाज खुद को पहले आर्मी का एक अफ़सर बता रहे थे, पर जब धीरे-धीरे लोगों ने उनके बारे में खोज-ख़बर लेनी शुरू की, तो उन्होंने अपना पद ही बदल दिया. अब वो खुद को MARCOS का एक इंडियन ब्लैक कैट कमांडो कहते हैं. हालांकि हाल ही में एक नया वीडियो सोशल मीडिया आया है, जिसमें शिफूजी कहते दिख रहे हैं कि उनका इंडियन आर्मी से उनका कोई संबंध नहीं है.

ऐसा नहीं कि ये सच सामने आने के बाद सिर्फ़ आपकी ही देशभक्ति को धक्का लगा है, बल्कि भूतपूर्व सैनिकों के एक संगठन ने उनके ख़िलाफ़ पुलिस में शिकायत भी लिखवाई है.

पर बात जहां शुरू हुई थी, वहीं आकर रुक गई है कि क्या हमारी आंखों पर देशभक्ति का ऐसा चश्मा चढ़ा है, जिससे हमें गलत भी सही नज़र आता है.

Source: logicalindian